State

खास खबर:भाजयुमो की नई कार्यकारिणी में ओवरएज हाेंगे आउट

रायपुर(realtimes) प्रदेश भाजयुमो की कमान नए अध्यक्ष रवि भगत को सौंपने के बाद अब नई कार्यकारिणी को लेकर कवायद चल रही है। इस बार नई कार्यकारिणी में अंडर 35 साल वालों को ही पदाधिकारी बनाने की तैयारी है। इसी के साथ ओवरएज काे बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या से मिलने के लिए नए अध्यक्ष दिल्ली गए हैं। वहां से मार्गदर्शन लेकर लौटने के बाद प्रदेश के सभी बड़े नेताओं से चर्चा करने के बाद कार्यकारिणी का ऐलान होगा। इसमें 50 फीसदी नए चेहरे रखे जाने की संभावना है। किसान मोर्चा की कार्यकारिणी को लेकर भी कवायद चल रही है। इसमें भी कई चेहरे बदलेंगे। दोनों मोर्चा की कार्यकारिणी इस माह के अंत में या फिर अक्टूबर के पहले सप्ताह में घोषित करने की तैयारी है।

भाजपा का पूरा फोकस मिशन 2023 पर है। भाजपा की रणनीति विधानसभा चुनाव में जीत प्राप्त करके फिर से सत्ता में वापसी की है। इसके लिए प्रदेश संगठन में लगातार बदलाव किए जा रहे हैं। प्रदेशाध्यक्ष को बदलने के बाद अब उनकी जो नई कार्यकारिणी बनी है, इसमें भी बड़ा बदलाव किया गया है। 54 सदस्यों की कार्यकारिणी में दो दर्जन नए चेहरे हैं। इसी के साथ कार्यकारिणी से 60 साल से ज्यादा वालों की छुट्टी हो गई है।

ओवरएज को बाहर करने की तैयारी

भाजयुमो की पुरानी कार्यकारिणी में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के अंडर 35 साल वालों को ही रखने के निर्देश के बाद कुछ ओवरएज को पदाधिकारी बना दिया गया है। इसको लेकर बड़ा विवाद भी हुआ। इस मामले में पूर्व प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने कार्रवाई की भी तैयारी की थी, लेकिन बाद में मामला ठंडे बस्ते में चला गया। लेकिन अब नई कार्यकारिणी को लेकर कहा जा रहा है, इसमें जहां पदाधिकारी अंडर 35 साल वाले ही रहेंगे, वहीं जो ज्यादा उम्र के हैं उनको बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

सक्रियता होगा बड़ा पैमाना

भाजयुमो और किसान मोर्चा में जो बदलाव होगा, उसका सबसे बड़ा पैमाना सक्रियता होगा। दो साल से कार्यकारिणी में शामिल जो भी युवा अब तक कुछ नहीं कर पाए हैं, उनकी विदाई तय है। उनके स्थान पर नए युवाओं को मौका दिया जाएगा। नए अध्यक्ष रवि भगत का कहना है, कार्यकारिणी में प्रदेश की कार्यकारिणी की तरह ही बदलाव होगा। जो युवा ज्यादा ऊर्जा और शक्ति के साथ काम करेंगे उनको माैका दिया जाएगा। कार्यकारिणी में हर वर्ग के साथ हर संभाग के जिलों का संतुलन भी बनाने का प्रयास होगा। किसान मोर्चा के अध्यक्ष पवन कुमार साहू का कहना है कार्यकारिणी में बदलाव तय है, लेकिन कितना बड़ा बदलाव होगा, यह तो वरिष्ठ नेताओं से चर्चा के बाद ही तय करेंगे। उन्होंने कहा, इसी माह कार्यकारिणी घोषित करने की तैयारी चल रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button