VideoViral

VIRAL VIDEO : पाकिस्तानी कलाकार ने भारतीय राष्ट्रगान को इंस्ट्रूमेंट पर ऐसे बजाया, सोशल मीडिया पर हो रही खूब तारीफ

Siyal Khan की इस Video को Twitter पर अब तक 33 हजार से अधिक लोग लाइक कर चुके हैं. 

भारत (India) में आजादी के अमृत महोत्सव (Azadi Ka Amrit Mahotsav) पर पड़ोसी देश पाकिस्तान (Pakistan) के एक कलाकार ने भारत में अपने चाहने वालों (Indian Fans) को एक ख़ास तोहफा दिया है. भारत में लोकप्रिय रबाब वादक सियाल खान (Siyal Khan) ने भारतीय फैन्स की मांग पर भारतीय राष्ट्रगान जन गण मन (Jan Gan Man) अपने को रबाब पर सुरीली धुन दी है. पाकिस्तान के एक हरियाली भरे पहाड़ी इलाके में युवा संगीतकार तन्मय होकर अपनी अपनी उंगलियों से रबाब पर जन-गण-मन की धुन बजाते नज़र आ रहे हैं. उन्होंने ट्विटर पर यह वीडियो शेयर किया है. सियाल खान ने ट्विटर पर यह वीडियो शेयर करते हुए लिखा है- सीमा पार के मेरे दर्शकों के लिए ये रहा मेरा तोहफा. ट्विटर पर अब तक इस वीडियो को 33 हजार से अधिक लोग लाइक कर चुके हैं. 

यह भी पढ़ें

सियाल खान की वीडियोज़ को भारत में सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया जाता है. इंस्टाग्राम पर सियाल ने अपने स्टेटस पर डाला कि मुझे भारतीय राष्ट्रगान बजाने के लिए बहुत से लोगों ने कहा था, मैंने कभी पहले इसे बजाया नहीं लेकिन मैं अपने प्रशंसकों के लिए अपनी बेहतरीन कोशिश करूंगा.  fak5b5ao

भारत का राष्ट्रगान बजाने से पहले सियाल खान भारत में रबाब पर बॉलीवुड गीत “मेरे हाथ में तेरा हाथ हो”, बजाकर चर्चा में आए थे.  

सियाल खान के यूट्यूब पर दी गई जानकारी के अनुसार, सियाल खान पाकिस्तान के दिर इलाके से हैं, राजनैतिक विज्ञान के छात्र हैं और रबाब बजाते हैं. उन्होंने लिखा है कि आप मेरे यूट्यूब चैनल पर पाकिस्तान के खूबसूरत नजारे देख सकते हैं और रबाब पर प्यारी धुनें सुन सकते हैं.

इंस्टाग्राम पर केवल 40 पोस्ट डाल कर  सियाल खान ने 42 हजार से अधिक फॉलोअर्स कमाए हैं, तो फेसबुक पर भी सियाल खान के 14 हजार से अधिक फॉलोअर्स हैं. भारत के राष्ट्रगान से पहले सियाल ने पाकिस्तान का राष्ट्रगान भी रबाब पर बजाया था. 

रबाब वाद्य यंत्र अफगानिस्तान के राष्ट्रीय संगीत का अहम हिस्सा है. पाकिस्तान में पश्तून और बलोच और सिंधी लोगों की संस्कृति में इसका अक्सर इस्तेमाल होता है.   

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button