State

जामवाल आज बाेरिया, बिस्तर लेकर आएंगे, विधानसभा और जिलाें में जाकर लेंगे पदाधिकारियाें और कार्यकर्ताओं की क्लास

रायपुर(realtimes) भाजपा के क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल का आज अपना बाेरिया बिस्तर लेकर रायपुर पहुंचेंगे। भाजपा के राष्ट्रीय संगठन ने उनकाे यहां पर रहने का फरमान जारी किया है। अब वे यहां पर रहकर भाजपा काे वापस राज्य की सत्ता में लाने की रणनीति पर काम करेंगे। अब वे लगातार विधानसभाओं और जिलों का दाैरा करके वहां पर पदाधिकारियाें और कार्यकर्ताओं की मिशन 2023 काे लेकर क्लास लेंगे।

भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व ने आरएसएस से भाजपा में आए अजय जामवाल को छत्तीसगढ़ और मप्र का प्रभार सौंपा है। इसी के साथ उनका मुख्यालय रायपुर तय किया गया है। वे अपने पहले प्रवास में यहां का तीन दिनों का दौर कर चुके हैं। इस समय वे भोपाल में हैं। अब उनका यहां पर आज आना हो रहा है। इस बार वे यहां पर लंबे समय तक रहने वाले हैं। वे कितनों तक रहेंगे, यह अभी तय नहीं है। इसी के साथ उनका अभी कार्यक्रम भी तय नहीं है। भाजपा प्रदेश संगठन के पदाधिकारियों के मुताबिक वे अपने पहले दौर में कह कर गए थे कि जब वे फिर से आएंगे तो विधानसभाओं और जिलों का दौरा करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि यहां पर 15 अगस्त के कार्यक्रम में शामिल होने के बाद उनका दौरे का कार्यक्रम बनेगा।

जामवाल काे दिया जीत का जिम्मा

भाजपा काे छत्तीसगढ़ में सत्ता में वापस लाने का जिम्मा भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व ने जीत दिलाने में महारथ रखने वाले असम के अजय जामवाल को साैंपा है। उनका यहां पर तीन दिनों का दौरा हो चुका है। इसमें वे सभी से फीडबैक लेकर लौटे थे। वे ये बात अच्छी तरह से समझ गए हैं कि कार्यकर्ताओं की नाराजगी ही भाजपा काे भारी पड़ी है, ऐसे में वे अब प्रदेश भर के कार्यकर्ताओं काे एक जुटने करने में जुटेंगे ताकि मिशन 2023 में भाजपा सफल हाे सके।

साधेंगे कार्यकर्ताओं को

यहां पर तीन दिनों तक बैठकेें लेने के बाद उनको जो फीडबैक मिला है, उनमें उनको यह बात समझ आई है कि कार्यकर्ताओं में नाराजगी के कारण ही भाजपा के हाथ से सत्ता गई है। ऐसे में वे यहां पर सबसे पहले कार्यकर्ताओं को साधने के साथ ही उनको जीत का मंत्र भी बताएंगे। वे यहां पर बैठक में बता चुके हैं कि बूथ स्तर पर जाकर लाभार्थियों से संपर्क करके उनको केंद्र सरकार की योजनाओं की जानकारी देने के साथ प्रदेश सरकार की वादाखिलाफी से भी अवगत कराना है। विधानसभाओं और जिलों की बैठक में वे कार्यकर्ताओं से सीधा संपर्क करके उनसे ही उस क्षेत्र में भाजपा की स्थिति के बारे में पूरी जानकारी लेंगे और जहां पर जो कमजोरी होगी उनको दूर करने के बारे में भी बताएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button