national

प्रधानमंत्री मोदी आज जाएंगे देवघर, हवाई अड्डा सहित कई प्रोजेक्ट का करेंगे लोकार्पण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को झारखंड के देवघर जिले में हवाई अड्डा सहित कई परियोजनाओं का लोकार्पण करेंगे। पीएम मोदी वहां कई अन्य परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे। देवघर में 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक भगवान भोलेनाथ का प्रमुख तीर्थ है। इसके अलावा पीएम मोदी 11.5 किमी के रोड शो में भी हिस्सा लेंगे। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

उन्होंने बताया कि इस यात्रा में पीएम मोदी बाबा वैद्यनाथ धाम में पूजा अर्चना करेंगे। आधिकारिक बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री झारखंड में 16,000 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास करेंगे। साथ ही 401 करोड़ की लागत से बने 657 एकड़ में फैले एयरपोर्ट का उद्घाटन करेंगे। इंडिगो ने पिछले हफ्ते कहा था कि वह 12 जुलाई को कोलकाता-देवघर उड़ान की शुरुआत करेगी।

झारखंड का दूसरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा
रांची के बाद यह झारखंड का दूसरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। 2014 से पहले भारत में भारत में 74 हवाई अड्डे थे, लेकिन सात वर्षों में अप्रैल 2022 तक कुल 140 हवाई अड्डों (हेलीपोर्ट और पानी के गुंबदों सहित) को लेकर 66 नए हवाई अड्डे स्थापित किए गए हैं। उड़ान (UDAN) योजना के तहत जून, 2022 तक 420 से अधिक हवाई मार्ग परिचालित किया गया। इस योजना के तहत 1.79 लाख से अधिक उड़ानें भरी गई हैं। उड़ान योजना ने पहाड़ी राज्यों, उत्तर-पूर्वी क्षेत्र और द्वीपों सहित अखिल भारतीय कई क्षेत्रों को अत्यधिक लाभान्वित किया है।

प्रधान मंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि वह मंगलवार को झारखंड और बिहार का दौरा करने के लिए उत्सुक हैं। उन्होंने कहा, मैं विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए कल झारखंड और बिहार में होने की उम्मीद कर रहा हूं। दोपहर में मैं देवघर पहुंचूंगा जहां मैं 16,800 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का उद्घाटन और शिलान्यास करूंगा। अपनी यात्रा के दौरान, प्रधानमंत्री एम्स, देवघर में इन-पेशेंट डिपार्टमेंट (आईपीडी) और ऑपरेशन थिएटर सेवाओं को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

बिहार विधानसभा भवन शताब्दी समारोह में शामिल होंगे मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार विधानसभा भवन का शताब्दी समापन समारोह में शामिल होने के लिए 12 जुलाई को बिहार आ रहे हैं। प्रधानमंत्री के आने के पहले बिहार में विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग जोर पकड़ने लगी है। दरअसल बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने का प्रस्ताव बिहार विधानमंडल के दोनों सदनों से पहले ही पारित हो चुका है।

बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने साफ कर दिया है कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की आवश्यकता नहीं है। प्रधानमंत्री मोदी के आगमन के पहले बिहार की सियासत विशेष राज्य के दर्जे को लेकर गरमा गई है। राजद और कांग्रेस की ओर से विशेष राज्य के दर्जे की मांग उठी तो सत्तारूढ़ दल में शामिल जदयू ने भी उसका समर्थन किया। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि पीएम मोदी जब कभी भी बिहार आएं तो कुछ ना कुछ सौगात दिया है। इस बार उम्मीद की जा सकती है कि वे बिहार को विशेष राज्य की दर्जा देने की घोषणा करेंगे।

कांग्रेस के प्रवक्ता असित नाथ तिवारी ने कहा कि बिहार विधानमंडल से दो बार विशेष राज्य के दर्जे की मांग पारित करके केंद्र सरकार को भेजा गया है। उसी विधानमंडल के शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री भी होंगे। हमें ये उम्मीद है कि मुख्यमंत्री बिहार को विशेष राज्य के दर्जे की मांग उठाएंगे और पीएम से कुछ ठोस आश्वासन ले पाएंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button