business

झुनझुनवाला को भारत में भरोसा था, देश की क्षमता में विश्वास था

नयी दिल्ली, 14 अगस्त (एजेंसी) शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के निधन पर उद्योग जगत की हस्तियों ने शोक जताया। अडाणी समूह के प्रमुख गौतम अडाणी ने कहा कि झुनझुनवाला पूरी पीढ़ी के लिए प्रेरणा थे। अडाणी ने ट्वीट किया कि भारत के सबसे महान निवेशक के असामयिक निधन से बेहद दुखी हूं। झुनझुनवाला ने अपने शानदार विचारों से एक पूरी पीढ़ी को हमारे इक्विटी बाजारों में विश्वास करने के लिए प्रेरित किया। मैं और देश उन्हें सदैव याद रखेंगे। टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा कि झुनझुनवाला को भारत में भरोसा था और वह देश की क्षमता में विश्वास रखते थे।

मशहूर बैंकर दीपक पारेख ने कहा कि झुनझुनवाला आशावाद के साथ एक प्रसिद्ध हस्ती थे, जिन्होंने भारतीय बाजार को गति दी। बैंकर उदय कोटक ने कहा कि राकेश झुनझुनवाला मेरे स्कूल और कॉलेज के साथी थे, उनके पास वित्तीय बाजारों की अनूठी समझ थी। हम आपको हमेशा याद करेंगे! खनन कारोबारी अनिल अग्रवाल ने ट्विटर पर कहा, मेरा दोस्त और शेयर बाजार का दिग्गज अब नहीं रहा… झुनझुनवाला को हमेशा उस व्यक्ति के रूप में जाना जाएगा जिसने शेयर बाजारों की सार्वजनिक समझ को लोकप्रिय बनाया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ट्वीट किया, ‘श्री राकेश झुनझुनवाला अब नहीं रहे। वह जोखिम लेने में काफी साहस दिखाते थे और शेयर बाजार को लेकर उनकी समझ जबर्दस्त थी। मेरी उनके साथ कई बार बातचीत हुई। उनको भारत की ताकत और क्षमता में भरोसा था।’

बाजार विश्लेषकों ने शोक जताते हुए कहा है कि झुनझुनवाला के भीतर मौजूद ऊर्जा उन्हें खास बनाती थी। जेरोधा के संस्थापक निखिल कामत ने ट्वीट किया, ‘आप जैसा कोई कभी भी देखने को नहीं मिलेगा।’ एक्सिस सिक्योरिटीज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) बी गोपकुमार ने कहा, ‘भारत की वृद्धि की कहानी में उन्हें पूरा भरोसा था। उन्होंने हमेशा यह साबित किया कि यदि कोई व्यक्ति अच्छी कंपनियों में अपने निवेश को बनाए रखता है, तो उसकी संपत्ति बढ़ना निश्चित है।’ एक अन्य विशेषज्ञ संदीप पारेख ने कहा कि झुनझुनवाला ऐसी हस्ती थे जिनके भाषण सुनकर ऐसे लोगों को भी देश की वृद्धि की कहानी में भरोसा हो जाता था, जो ऐसा नहीं मानते थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button