nationalTop News

राष्ट्रपति चुनावः वोटों की गिनती जारी, सांसदों के बाद गिने जाएंगे विधायकों के वोट, जुलूस की तैयारी में बीजेपी

राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी ने संसद में पड़े वोट के आंकड़े जारी करते हुए कहा कि द्रौपदी मुर्मू को 3,78,000 के मूल्य के साथ 540 वोट मिले हैं और यशवंत सिन्हा ने 1,45,600 के मूल्य के साथ 208 वोट हासिल किए हैं। कुल 15 वोट अवैध पाए गए।

फोटोः सोशल मीडिया
user

Engagement: 0

देश के नए राष्ट्रपति के नाम की घोषणा अब से थोड़ी देर में हो जाएगी। संसद में राष्ट्रपति चुनाव में डाले गए वोटों की गिनती की जा रही है। इस चुनाव में एमडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू और विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के बीच सीधा मुकाबला है। चुनाव में मुर्मू को एनडीए में शामिल दलों के साथ ही शिवसेना, बीजेडी और वाईएसआर कांग्रेस का समर्थन मिला है। वहीं यशवंत सिन्हा को कांग्रेस, टीएमसी, एनसीपी, सपा, डीएमके, आरजेडी के साथ कई अन्य विपक्षी दलों का समर्थन मिला है।

संसद में पड़े वोटों के आंकड़े आए

राज्यसभा के महासचिव पीसी मोदी ने संसद में पड़े वोट के आंकड़े जारी करते हुए कहा कि द्रौपदी मुर्मू को 3,78,000 के मूल्य के साथ 540 वोट मिले हैं और यशवंत सिन्हा ने 1,45,600 के मूल्य के साथ 208 वोट हासिल किए हैं। कुल 15 वोट अवैध पाए गए। आज शाम तक सारे वोटों की गिनती के बाद देश के नए राष्ट्रपति के नाम की घोषणा कर दी जाएगी। देश के वर्तमान राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई की मध्य रात्रि को खत्म हो रहा है। इसके बाद 25 जुलाई को नए राष्ट्रपति का शपथ ग्रहण होगा।

द्रौपदी मुर्मू का पलड़ा भारी

संभावना की बात करें तो राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू का पलड़ा भारी दिख रहा है। क्योंकि बीजेपी ने जब मुर्मू को उम्मीदवार बनाया था, तब एनडीए के खाते में 5 लाख 63 हजार 825, यानी 52% वोट थे। वहीं 24 विपक्षी दलों के साथ होने के कारण यशवंत सिन्हा के पास 4 लाख 80 हजार 748 यानी 44% वोट थे। लेकिन चुनाव तक कई गैर एनडीए दलों के साथ आ जाने से मुर्मू को निर्णायक बढ़त मिल गई। ऐसे में मुर्मू को 6.67 लाख यानी करीब 61% से अधिक वोट मिलने की संभावना जताई जा रही है, जबकि सिन्हा को र 4.19 लाख वोट मिलने का अनुमान है। जीत के लिए 5 लाख 40 हजार 065 वोट जरूरी हैं।

पूरे देश में जश्न मनाने की तैयारी में बीजेपी

इस बीच मुर्मू की जीत की संभावना को देखते हुए बीजेपी ने नतीजे आने के बाद दिल्ली में विजय जुलूस निकालने की तैयारी शुरू कर दी है। खबर है कि मुर्मू की जीत के बाद बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में दिल्ली में 3 किलोमीटर लंबा रोड शो निकलेगा, जिसमें कई केंद्रीय मंत्री भी शामिल होंगे और मुर्मू की जीत का श्रेय पीएम मोदी को देंगे। हालांकि, जुलूस में मुर्मू शामिल नहीं होंगी। लेकिन ऐसा पहली बार होगा, जब राष्ट्रपति की जीत के बाद जुलूस निकाला जाएगा।

दरअसल बीजेपी राष्ट्रपति चुनाव से ही 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुट गई है। द्रौपदी मुर्मू की जीत से बीजेपी आदिवासी समुदाय सहित पूरे देश और खासतौर पर महिलाएं को संदेश देना चाहती है। इसीलिए बीजेपी मुर्मू की जीत की घोषणा होते ही देशभर में जश्न मनाने की तैयारी में है। हालांकि ऐसा पहली बार होगा, इसलिए पार्टी कार्यकर्ताओं को जीत के बाद पोस्टर में द्रौपदी मुर्मू के साथ किसी और नेता की तस्वीर नहीं लगाने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

18 जुलाई को हुआ था मतदान

बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को वोटिंग हुई थी। 18 जुलाई को हुई वोटिंग के बाद चुनाव आयोग ने बताया कि छत्तीसगढ़, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, मणिपुर, सिक्किम, तमिलनाडु और पुडुचेरी में राष्ट्रपति चुनाव के लिए 100 फीसदी वोटिंग हुई। वहीं वोटिंग के बाद राज्य सभा के महासचिव पीसी मोदी ने बताया था कि संसद भवन में कुल मतदान 99.18% हुआ है। संसद में बने बूथों में 728 वोट डाले गए। इनमें से 719 सांसद थे, जबकि 9 विधायकों को भी संसद भवन में वोटिंग की अनुमति मिली थी।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button