nationalTop News

अयोग्य घोषित होंगे शिवसेना के 12 बागी विधायक? संजय राउत ने डिप्टी स्पीकर को पत्र लिख तुरंत की कार्रवाई की मांग

महाराष्ट्र संकट के बीच बड़ी खबर सामने आई है। जानकारी के मुताबिक शिवसेना ने बागी विधायकों पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही जा रही है। शिवसेना ने 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने के लिए महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल को पत्र लिखा है। शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने शुक्रवार को कहा कि अब 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने की डिप्टी स्पीकर जिरवाल की याचिका के साथ कानूनी लड़ाई शुरू हो गई है, क्योंकि लोकतंत्र बहुमत के आंकड़ों पर चलता है जो कभी भी बदल सकता है।

राउत ने आगाह किया, “अब तक, बागियों द्वारा किया जा रहा दावा सिर्फ कागजों पर है। वे अभी तक मुंबई नहीं आए हैं और उनके लौटने के बाद संख्या बदल जाएगी। जो चले गए हैं उन्हें पछताना होगा।” शिवसेना नेता संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने यह साफ कर दिया है कि महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट की आगे की लड़ाई कैसे लड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि एकनाथ शिंदे गुट जो हमें चुनौती दे रहा है, उसे यह महसूस करना चाहिए कि शिवसेना के कार्यकर्ता अभी सड़कों पर नहीं उतरे हैं। इस तरह की लड़ाई या तो कानून के जरिए लड़ी जाती है या सड़कों पर। जरूरत पड़ी तो हमारे कार्यकर्ता सड़कों पर उतरेंगे।

उन्होंने कहा कि संख्या बल कागज में ज्यादा हो सकती है, लेकिन अब यह लड़ाई कानूनी लड़ाई होगी। हमारे जिन 12 लोगों ने बगावत शुरू की है उनके खिलाफ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की है, जिसके लिए हमारे लोगों ने सभापति से मुलाकात की है। राउत ने कहा कि (एकनाथ शिंदे गुट के) 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने की प्रक्रिया चल रही है, उनकी संख्या केवल कागजों पर है। शिवसेना एक बड़ा सागर है, ऐसी लहरें आती-जाती रहती हैं।

शिवसेना ने साफ कर दिया है कि अब महाराष्ट्र में राजनीतिक संकट से जुड़ी लड़ाई सड़क पर उतरकर और कानूनी तरीके से लड़ी जाएगी। राजनीतिक संकट के बीच मुंबई में शिवसेना ने आज दोपहर 12 बजे शिवसेना भवन में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में पार्टी के जिलाध्यक्षों की बैठक बुलाई है।

वहीं, संजय राउत ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार को निशाना बनाए जाने पर बीजेपी को आड़े हाथों लिया। राउत ने ट्वीट कर कहा, “बीजेपी के एक केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि अगर महाविकास अघाड़ी सरकार को बचाने के प्रयास किया गया तो शरद पवार को घर नहीं जाने दिया जाएगा। महाविकास अघाड़ी सरकार रहे या न रहे लेकिन शरद पवार के लिए ऐसी भाषा का उपयोग स्वीकार्य नहीं है।” राउत ने कहा कि एक केंद्रीय मंत्री द्वारा शरद पवार जी को धमकियां दी जा रही हैं। क्या ऐसी धमकियों को मोदी जी और अमित शाह जी का समर्थन है?

(आईएएनएस के इनपुट के साथ)

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button