State

आम जरूरत की बीपी, शुगर, सर्दी, खांसी की दवाएं महंगाई के वायरस से ग्रस्त

रायपुर(realtimes) महंगाई ने हर सेक्टर पर हमला बाेला है। इससे दवाएं भी अछूती नहीं रह गई हैं। कोराेना काल में जहां एक तरफ दवाओं को लेकर भारी मारा मारी रही, वहीं अब कोरोना के बाद दवा बाजार में महंगाई के वायरस का बड़ा हमला हो गया है। आम जरूरत की दवाएं बीपी, शुगर, सर्दी, खांसी से लेकर सभी के दाम दस से बीस फीसदी तक बढ़ गए हैं। कुछ दवाओं के दाम तीस फीसदी तक भी बढ़े हैं। कीमत में इजाफे का कारण दवा दुकान वाले कच्चे माल के साथ परिवहन और मजदूरी को बता रहे हैं। अप्रैल से देश भर में करीब 800 दवाओं के दाम में दस फीसदी तक का इजाफा हुआ है। इसके लिए केंद्र सरकार ने ही मंजूरी दी है। यही वजह है कि अब दवाओं की कीमत ज्यादा हो गई है।

आम आदमी पेट्रोल डीजल की महंगाई के कारण हर सेक्टर में आई महंगाई के कारण पहले से तस्त है। राशन से लेकर दूध, सब्जी सब में महंगाई की आग लगी हुई है। ऐसे में अब दवाओं में भी महंगाई ने आम आदमी को परेशानी में डाल दिया है। कोरोनाकाल के बाद से दवाओं की कीमत में लगातार इजाफा हो रहा है। साल भर में दो से तीन बार कीमत में इजाफा किया गया है। जिसको जब मौका मिलता है, फायदा उठाने का ही काम कर रहा है।

आम दवाएं ज्यादा प्रभावित

दवाओं की कीमत में जो इजाफा हुआ है, उसमें आम दवाएं ज्यादा हैं। जैसे शुगर की दवा अब आम है। इसके हर ब्रांड की दवा महंगी हुई है। उदाहरण के लिए जेमीनार एमवन की कीमत पहले 95 रुपए थी, जो अब 122 रुपए हो गई है। इसी तरह से गिलिमीसेव एमवन 97 रुपए से 120 रुपए हो गई है। खांसी के सारे सीरप की कीमत बढ़ी है। कोरेक्स से लेकर सीनारेस्ट सबके दाम बढ़े हैं। जो सीरफ पहले 80 से 90 रुपए में आते थे वो सब सौ के पार होकर 110 से 125 रुपए तक हो गए हैं। खांसी का गिरीलिट्स सीरप 105 से 126 रुपए हो गया है। गैस की टेबलेट पेनटोसीड 130 से 165 रुपए हो गई है। यानी करीब 30 फीसदी का इजाफा हुआ है। पेनटॉप की कीमत 120 से 147 रुपए हो गई है। राजो डी टेबलेट 246 से 271 रुपए हो गई है। लूज मोसन की गोली नारफ्लाक्स टीजेड जो पहले 73 रुपए में मिलती थी, उसकी कीमत 100 रुपए हो गई है। यानी इसकी कीमत तीस फीसदी से भी ज्यादा बढ़ी है। बेटाडीन की कीमत 85 से 130 रुपए हो गई थी, लेकिन अब यह 114 रुपए हो गया है।

दांतों का प्राक्स ब्रश 40 फीसदी महंगा

दवा दुकानों में ही अमूल पाउडर भी मिलता है। इसकी कीमत 180 रुपए से 251 रुपए हो गई है। दांतों के डॉक्टर जिस टूथ पेस्ट का प्रयोग करने के लिए लिखते हैं वो भी महंगे हो गए हैं। सेनक्यूल ई टूथ पेस्ट 121 से 145 रुपए हो गया है। दांतों के गेप की सफाई करने वाला छोटा थर्मोसील प्राक्स ब्रश 105 रुपए से सीधे 150 रुपए हो गया है। यानी इसकी कीमत चालीस फीसदी तक बढ़ी है।

दवाओं की नए और पुराने दाम

ट्राइप्राइड टू 250 से 272

एम्लोप्रेस एटी 122 से 148

टेक्सोरेन 145 से 159

गिरीलिट्स 105 से 126

क्वालीड्रीम क्रीम 126 से 138

ग्लाईकोमेट 155 से 170

पेन पोर्टी 45 से 50

एजिथ्रोमाइसीन 65 से 70

बेटाडीन 85 से 116

लेक्टोजैन 312 से 330

लाइसोफ्लाम 90 से 110

डोलोनेक्स डीटी 150 से 178

सुप्राडिन 34 से 50

जेमिनार एम-वन 95 से 122

मोनटेक्स एलसी 149 से 179

गिलिमीसेव एमवन 97 से 120

सीनारेस्ट सीरप 91 से 111

आईटोने ड्राफ 50 से 60

राजो डी 246 से 271

पैनथोसील 150 से 159

पेनटाप 40 एमजी 120 से 147

नारफ्लाक्स टीजेड 73 से 100

नाइस 89 से 98

चेस्टारीन कोल्ड 36 से 42

एसोमैक्स एटी 156 से 174

स्टोलिन आर 128 से 140

लिम सी 15 से 22

सिमिलेम 180 से 195

सेप्ट्रान डीसी 15 से 23

नोर्फलोक्टस 60 से 71

ब्रोजेडक्स सीरप 84 से 118 रुपए

पेनडोसीड 130 से 165

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button