State

एसओआर बदले बिना अब ठेकेदार नहीं लेंगे नया काम, किया टेंडरों का बहिष्कार

रायपुर(realtimes) प्रदेश भर के जिन सरकारी ठेकेदाराें में टेंडर लेने की हाेड़ मची रहती थी, जिसके चलते बिलाे रेट पर काम ले लिया जाता था, उन्हीं ठेकेदाराें ने अब एसओआर बदले बिना टेंडर न लेने का बड़ा फैसला किया है। इसके पीछे का कारण यह है कि मटेरियलाें के बढ़े दामों के कारण ठेकेदाराें का पुराने टेंडराें काे पूरा करने में पसीना छूट रहा है। इसके लिए अब अंतर की राशि की मांग हाेने लगी है। मांगे पूरी न हाेने पर अब पहले कदम पर नया काम न लेने का ऐलान किया गया है।

अब प्रदेश का कोई भी ठेकेदार ना तो ऑनलाइन न ही मैन्युअल टेंडर फॉर्म भरेगा और ना ही किसी को भरने देगा। इस समय प्रदेश में करीब एक हजार करोड़ से ज्यादा के टेंडर प्रक्रिया में हैं। नया रायपुर में बनाने वाले विधानसभा भवन का ही टेंडर करीब दो सौ करोड़ का है। ठेकेदार जल्द ही सभी कामों को भी बंद करने का भी फैसला करने वाले हैं। बैठक में चर्चा के बाद तय किया अचानक इसको बंद करना ठीक नहीं रहेगा, इसलिए इस पर फैसला कुछ रूक कर लिया जाएगा।

मटेरियल पर पड़ी महंगाई की बड़ी मार के बाद ठेकेदारों ने पिछले कुछ समय से मोर्चा खोलकर रखा है। लगातार राजधानी रायपुर में छत्तीसगढ़ कांट्रेक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष बीरेश शुक्ला के नेतृत्व में बैठकें चल रही हैं। शनिवार को यहां पर सभी जिलाध्यक्षों की बैठक हुई। इसमें तय किया गया कि अब कोई भी ठेकेदार किसी भी जिले में कोई भी सरकारी काम तब तक नहीं लेगा जब तक हमारी मागें पूरी नहीं होती हैं। पहले तो एसओआर को बदलना होगा, इसी के साथ जो वर्तमान में काम चल रहे हैं, उसकी अंतर की राशि देनी होगी। इसी के साथ और भी कई मांगें हैं जिसका मांग पत्र पहले ही विभागों को सौंपा जा चुका है। बिल्डर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष केसी राव का कहना है, छत्तीसगढ़ शासन के समस्त निर्माण विभागों के शेड्यूल ऑफ रेट (एसओआर) और बाजार मूल्य में 50 से 60 फीसदी का अंतर आया है। ऐसे में अब योजनाओं को पूरा करना संभव नहीं है।

सीएम से मिलने के बाद ही काम बंद करने पर फैसला

एसाेसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष बीरेश शुक्ला का कहना है, बैठक में वर्तमान में चल रहे कामों को भी बंद करने पर चर्चा की गई। लेकिन अचानक काम बंद करना संभव नहीं होगा। श्री शुक्ला ने बताया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलने के लिए लगातार समय मांग रहे हैं। मुख्यमंत्री के बाहर होने के कारण उनसे मुलाकात नहीं हो पा रही है। उनके वापस आते ही उनसे मुलाकात होगी। मुख्यमंत्री को पहले अपनी समस्याएं बताएंगे। अगर इसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं होता है तब काम बंद करने का फैसला करेंगे।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button