Sports

बाकी बचे दो मुकाबलों से भी बाहर रह सकते हैं पृथ्वी

मुम्बई। दिल्ली कैपिटल्स के सलामी बल्लेबाज़ पृथ्वी शॉ लीग स्टेज में बचे दिल्ली के दोनों मुकèाबलों से भी बाहर रह सकते हैं। टीम के सहायक कोट शेन वॉटसन ने पृथ्वी के स्वास्थ्य को लेकर बरकरार संशय पर अपने बयान में कहा कि लीग स्टेज के अंतिम दो मुकबलों में शॉ के खेलने की संभावना कम ही है।

शॉ को बुखार हो गया है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह आ.खरिी बार एक मई को लखनऊ सुपर जायंट््स के .खलिाफè खेले थे और तब से तीन मैचों को खेलने से वह चूक गए हैं।वॉटसन ने गुरुवार को'ग्रेड क्रिकेटरपॉडकास्ट से कहा, मैं उनके निदान को ठीक से नहीं जानता, लेकिन उन्हें पिछले कुछ हफè्तों से यह अंतर्निहित बुखार है, जिसे खोजने के लिए उन्हें वास्तव में इसकी तह तक जाना पड़ा है।

पिछले कुछ मैचों के लिए उपलब्ध न होना उनके लिए बहुत अच्छा नहीं लग रहा है क्योंकि वह एक कुशल युवा बल्लेबाज़ हैं जो कि दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ों पर प्रहार करने का माद्दा रखते हैं।उन्होंने आगे कहा, उनका न होना हमारे लिए एक बड़ी क्षति है। उम्मीद है, वह जल्द ही पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जाएंगे लेकिन दुर्भाग्य से, यह कम से कम अंतिम दो मैचों के लिए समय पर नहीं होने वाला है।

बुधवार को राजस्थान रॉयल्स के .खलिाफè खेले गए मैच के दौरान एक इन-गेम साक्षात्कार में, मुख्य कोच रिकी पोंटिग ने ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोट््र्स से कहा, पृथ्वी को अब बाहर कर दिया गया है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि उन्हें कितने मैचों के लिए बाहर किया गया है।मैच के बाद कप्तान ऋषभ पंत से जब पूछा गया कि क्या शॉ के लिए आईपीएल समाप्त हो गया है तब उनके पास भी कोई ठोस जवाब नहीं था।

पंत ने कहा, हमें उनकी कमी खलती है, लेकिन साथ ही यह कुछ ऐसा है जिसे हम नियंत्रित नहीं कर सकते हैं।उसे टाइफाइड या ऐसा कुछ हुआ क्योंकि डॉक्टर ने मुझे बताया था। उम्मीद है कि वह वापस आ जाएंगे [लेकिन] हम अभी तक नहीं जानते हैं। अगèर वह वापस आते हैं तो यह हमारे लिए एक अच्छा और भी अच्छा होगा।दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने 12 मैचों में 12 अंक हासिल किए हैं। अभी प्लेऑफè में पहुंचने की उनकी उम्मीदें बरकरार हैं।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button