national

हिंदू सेना ने जेएनयू के मुख्यद्वार के निकट लगाये धमकी भरे पोस्टर, कहा-भगवा का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे!

नयी दिल्ली, 15 अप्रैल (एजेंसी) 

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के एक छात्रावास में राम नवमी के दौरान कथित रूप से मांसाहारी भोजन परोसे जाने को लेकर हुई हिंसा के करीब एक सप्ताह बाद हिंदू सेना ने विश्वविद्यालय के मुख्यद्वार के निकट और आस-पास के इलाके में पोस्टर और भगवा झंडा लगाए। उसने चेतावनी भी दी कि यदि ‘‘भगवा का अपमान” किया गया, तो ‘कड़े कदम’ उठाए जाएंगे। हिंदू सेना प्रमुख विष्णु गुप्ता ने बताया कि दक्षिणपंथी संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुरजीत सिंह यादव ने ‘‘भगवा जेएनयू” के पोस्टर लगाए। व्हाट्सऐप पर प्रसारित वीडियो में गुप्ता कथित रूप से यह कहते सुनाई दे रहे हैं, ‘जेएनयू परिसर में भगवा का नियमित रूप से अपमान किया जा रहा है। हम ऐसा करने वालों को चेतावनी देते हैं। आप सुधर जाइए। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘‘हम आपकी विचारधारा और हर धर्म का सम्मान करते हैं। लेकिन भगवा का अपमान सहन नहीं किया जाएगा और हम कड़े कदम उठा सकते हैं।’

पुलिस उपाध्यक्ष (दक्षिण पश्चिम) मनोज सी ने कहा, ‘‘शुक्रवार को सुबह यह देखा गया कि जेएनयू के निकटवर्ती इलाकों और सड़क पर कुछ झंडे और बैनर लगाए गए हैं। हाल की घटना के कारण उन्हें तुरंत हटा दिया गया और उचित कानूनी कार्रवाई की जा रही है।’ हिंदू सेना के बयान में कहा कि पुलिस को झंडे उतारने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए। संगठन ने कहा, ‘भगवा आतंकवाद का चिह्न नहीं है, जो पुलिस जल्दबाजी दिखा रही है। भगवा और हिंदुत्व की रक्षा करना कानून के तहत दिया गया अधिकार है।’ विश्वविद्यालय परिसर में कावेरी छात्रावास के भोजनालय में कथित रूप से मांसाहारी भोजन परोसने को लेकर रविवार को छात्रों के दो समूहों के बीच झड़प हुई थी। पुलिस का कहना है कि हिंसा में 20 छात्र घायल हो गए थे। बहरहाल, दोनों समूहों ने दावा किया कि दोनों पक्षों के 60 से अधिक लोग घायल हुए हैं। जेएनयू छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के आरोप लगाया कि अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के सदस्यों ने छात्रों को छात्रावास के भोजनालय में मांसाहारी भोजन करने से रोका और ‘‘हिंसक माहौल पैदा” किया, लेकिन एबीवीपी ने इन आरोपों को खारिज किया और आरोप लगाया कि ‘वामपंथियों’ ने राम नवमी पर छात्रावास में आयोजित एक पूजा कार्यक्रम को बाधित किया।

 

 

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button