State

पढ़ें: मंत्री मोहम्मद अकबर से जुड़ी कुछ ख़ास बातें…जिन्हें आप नहीं जानते…

रायपुर(realtimes) कवर्धा से विधायक व छत्तीसगढ़ सरकार के कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर अपनी सरलता, सहजता तथा मृदुभाषी व्यवहार के कारण लोगों के बीच लोकप्रिय है। अपने सरल स्वभाव और आसानी से उपलब्ध रहने की वजह से उन्हें अकबर “भाई” भी कहा जाता है। अहम पदों पर रहने के बाद भी श्री अकबर के स्वभाव में अहम नजर नहीं आता है। वे लोगो के लिए कार्य करने को अपना दायित्व मानते है।

सभी धर्मों का सम्मान

मोहम्मद अकबर कृषि उपज मंडी रायपुर में 85 से 1991 तक अध्यक्ष रहे। उसी दौरान भव्य राम मंदिर बनवाया। तब से मंदिर की देखरेख का जिम्मा खुद सम्हालते हैं। दोनो नवरात्रि में पहली जोत उन्हीं यानि अकबर भाई के नाम की जलती है। कबीरधाम जिले के कई मंदिरों में भी नवरात्रि पर उनके नाम पर जोत जलती है। गणेश उत्सव और दुर्गा उत्सव में खुलकर योगदान करते हैं। मंत्री अकबर के राजधानी रायपुर  स्थित शासकीय निवास में हनुमान मंदिर बना हुआ है। इसकी देखरेख के लिए भी व्यवस्था उन्होंने की है। विधि विधान से पूजा के लिए एक पुजारी नियुक्त है। मंत्री अकबर के शासकीय  निवास स्थित कार्यालय में पहुंचने वाली जनता मंदिर में हनुमान जी के दर्शन करती है।

सम्मानपूर्वक लगवाया झंडा

कवर्धा में जब युवकों के दो गुटों के बीच  झंडा विवाद हुआ तो मंत्री अकबर ने नगरपालिका को निर्देश दे कर सम्मानपूर्वक झंडा पुनः लगवाया। जब शंकराचार्य न्यास ने विशाल झंडा लगाने 100 फीट शासकीय जमीन मांगी तो उन्होंने व्यक्तिगत रुचि लेकर 600 फीट जमीन आवंटित कराई। मंत्री अकबर का कहना है कि कवर्धा की पहचान शांत नगर की हैं, जहां के लोग बेहद अच्छे हैं। यहां के लोग आपस में  मिलजुलकर रहते है।

कबीरधान जिले से अटूट नाता

अकबर कबीरधाम जिले से ही चुनाव लडना पसंद करते हैं। 1993, 1998 और 2003 में वीरेंद्र नगर सीट से लड़े। परिसीमन में ये सीट विलोपित हुई तो 2008 में पंडरिया से लड़े। 2013 और 2018 में कवर्धा सीट से लड़े।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button