businessCity

त्याैहारी सीजन में ई-कामर्स कंपनियाें की चांदी, ऑफलाइन कारोबारिेयों की बर्बादी

रायपुर(realtimes) त्याैहार सीजन अपने पूरे शबाब पर है, ऐसे समय में जबकि काराेबारियाों की बल्ले-बल्ले हाेनी चाहिए, उस समय  ऑफलाइन काराेबार करने वाले छाेटे से लेकर बड़े काराेबारी परेशानी में हैं। इनका पूरा धंधा ही चाैपट हाे गया है। नवरात्रि में ऑनलाइन कारोबार करने वाली कई बड़ी ई-कामर्स कंपनियों की ऑफर सेल के कारण ऑफलाइन कारोबार करने वाले इलेक्ट्रानिक्स, मोबाइल, कपड़ा सहित कई सेक्टरों का करोड़ों का काराेबार प्रभावित हुआ है। इनका 50 फीसदी से ज्यादा कारोबार प्रभावित हो गया है। अब दीपावली से 15 दिन पहले भी जिस तरह से ऑफर ही ऑफर आए हैं, उससे छोटे कारोबारी परेशानी में हैं।

ऑनलाइन कारोबार करने वाली कंपनियों ने लंबे समय से ऑफलाइन कारोबार करने वालों को परेशानी में डाल रखा है। खासकर जब भी किसी त्यौहार का मौका आता है, ई-कामर्स कंपनियों में जिस तरह से ऑफर आते हैं उसके कारण ऑफलाइन कारोबार करने वालाें का धंधा ही चौपट हो जाता है। आज स्थिति यह है कि शहर ही नहीं बल्कि गांवों के लोग भी कई सामान ऑनलाइन मंगा रहे हैं। इसके पीछे का कारण यह है कि ऑनलाइन सामान बहुत सस्ता मिल जाता है।

इलेक्ट्रानिक्स को डेढ़ सौ करोड़ का फटका

नवरात्रि में इस बार करीब दस दिन पहले ही ई-कामर्स की बड़ी कंपनियों ने ऑफर देने प्रारंभ कर दिए। इसका नतीजा यह हुआ है कि ऑफलाइन मोबाइल और इलेक्ट्रानिक्स का कारोबार करने वालों को डेढ़ सौ करोड़ का फटका लग गया है। रवि भवन व्यापारी संघ के अध्यक्ष जय नानवानी का कहना है पिछले साल नवरात्रि में मोबाइल का ही 60 करोड़ से ज्यादा का कारोबार कोरोना के बाद हुआ था। इस बार 70 से 80 करोड़ के कारोबार की उम्मीद थी, लेकिन मुश्किल से 30 करोड़ का कारोबार हो सका है। इसी तरह से इलेक्ट्रानिक्स में जिसमें एलईडी टीवी, लैपटॉप, ओवन, वाशिंग मशीन, होम थियेटर सहित अन्य इनेक्ट्रानिक्स सामान हैं, उनका भी सौ करोड़ का कारोबार प्रभावित हुआ है। इसके अलावा कपड़ों से लेकर कासमेटिक और अन्य कई तरह के सामानों का कारोबार भी प्रभावित हो रहा है।

ऑनलाइन में भारी छूट

ऑनलाइन में भारी खरीदारी के पीछे का कारण यह है कि इसमें भारी छूट मिलने के कारण लोग इसकी तरफ आकर्षिंत होते हैं। अगर मोबाइल की बात करें तो इनमें 2 से 10 हजार तक के ऑफर मिल रहे हैं। इसी के साथ नामी कंपनियों के एलईडी टीवी में 5 से 15 हजार तक के ऑफर हैं। जो 50 इंच की एलईडी टीवी ऑफलाइन में 50 हजार में मिल रही है, वहीं ऑनलाइन में 40 हजार में मिल रही है। इसी तरह से हर सामान में भारी डिस्काउंट के कारण लोग ऑनलाइन खरीदारी करना पसंद कर रहे हैं।

पाॅलिसी जरूरी

छत्तीसगढ़ चैंबर ऑफ कामर्स के अध्यक्ष अमर पारवानी कहते हैं, ई-कामर्स के लिए पॉलिसी न होने के कारण इनके ऑफरों के कारण छोटे कारोबारियों का बहुत नुकसान हो रहा है। हम लोग केंद्र सरकार से लगातार पाॅलिसी बनाने की मांग कर रहे हैं। पॉलिसी नहीं बनीं तो ऑफलाइन कारोबार आने वाले समय में पूरी तरह से चौपट हो जाएगा।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE