State

CM भूपेश ने RSS की तुलना नक्सलियों से की, रमन ने दिया जवाब

रायपुर(realtimes) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आरएसएस की तुलना ननक्सलियों से की है। उन्होंने कहा है कि जिस तरह नक्सलियों के नेता आंध्रप्रदेश में हैं और वहां से मूव्हमेंट करते हैं,उसी प्रकार छत्तीसगढ़ में आरएसएस के पास अपनी कोई क्षमता नहीं है वह नागपुर से संचालित होता है। श्री बघेल ने यह बात मीडिया के एक सवाल के जवाब में कही। उनसे पूछा गया था कि राज्यपाल अनुसईया उईके ने कवर्धा मामले में आपको पत्र लिखा है,इस पर क्या कहना है। दूसरी ओर मुख्यमंत्री के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए बयान को ओछी मानसिकता बताया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा – छत्तीसगढ़ में जैसे नक्सलियों के नेता आंध्रप्रदेश में हैं और वहां से इनका मूवमेंट होता है, वैसे ही छत्तीसगढ़ में आरएसएस के पास अपनी कोई क्षमता नहीं है। यह नागपुर से चलता है। उन्होंने कवर्धा की घटना को लेकर कहा, हम लोग किसी भी घटना को हल्के में नहीं लेने वाले हैं। ये लोग छोटी सी घटना को बड़ा बनाना चाहते हैं। विभिन्न धर्मों के लोगों में आपस में विवाद हो जाता है, लेकिन हर बात को जो साम्प्रदायिक रंग देने की कोशिश करेंगे, उस पर कड़ी नजर रखी जाएगी।

तीन दिनों में मांगी है रिपोर्ट-सीएम

 मुख्यमंत्री ने मीडिया से चर्चा में कहा, सरकार कवर्धा की घटना पर गंभीरता से नजर रख रही है। सांप्रदायिक तनाव भड़काने वालों को पहचान कर उन पर कार्रवाई कर रहे हैं। अब यहां पर मामला शांत हो रहा है। ज्ञात हो कि झंडे लगाने के मामले में दुर्गेश देवांगन की पिटाई करने वाले 29 लोगों की वीडियो फुटेज और अन्य साक्ष्यों के आधार पर गिरफ्तारी हो चुकी है। राज्यपाल अनुसुइया उइके ने मामले में मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है कि निर्दोष लोगों पर कार्रवाई न हो, इसका ध्यान रखा जाए। उन्होंने प्रशासन से भी घटना के संबंध में तीन दिन में रिपोर्ट मांगी है।

रमन ने दिया जवाब- जिसके जैसे संस्कार

आरएसएस की तुलना नक्सल संगठन से करने संबधी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान पर पूर्व सीएम डॉ रमन सिंह ने निशाना साधते हुए कहा है कि जिसके जैसे संस्कार  होते है वह संस्कार के अनुरूप उसकी अभिव्यक्ति का तरीका  स्पष्ट होता है, मुझे लगता है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आर एस एस के प्रति भावना व्यक्त किया है यह मुख्यमंत्री की ओछी मानसिकता का प्रतीक  है।

पूर्व सीएम ने कहा कि आर एस एस का संगठन देश में हर कठिन परिस्थिति में  सबसे आगे पंक्ति में संगठन खड़ा रहता है ।  डॉ रमन सिंह ने कहा कि 1962 में स्वयंसेवक संघ जो पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने गणतंत्र दिवस की परेड में सम्मिलित होने का निमंत्रण दिया था।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE