City

वरिष्ठ पत्रकार रमेश शर्मा का सम्मान 28 को

रायपुर(realtimes) राजधानी के वरिष्ठ पत्रकार और कलाकार रमेश शर्मा को स्व. हर्ष चंदूलाल मजीठिया की स्मृति में ” ख़बरगली रत्न सम्मान ” से नवाज़ा जायेगा। श्री शर्मा को यह सम्मान 28 सितम्बर को रायपुर प्रेस क्लब में दोपहर 12.30 को दिया जाएगा। सम्मान के रूप में उन्हें 5021 रुपये की सम्मान राशि, शाल, श्रीफल के साथ प्रमाण पत्र दिया जाएगा।

जानें…कौन है रमेश शर्मा

19 अक्टूबर 1945 को राजधानी के ही राजातालाब में जन्में रमेश शर्मा की यात्रा बेहद दिलचस्प और प्रेरणादायक है। प्रदेश के सारागांव से शरू होते क्रमशः बैजनाथ पारा , रायपुर और कालीबाड़ी स्कूल से उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा लेते हुए अजीजिया स्कूल अंग्रेजी स्कूल छोटापारा से मैट्रिक किया। फिर छत्तीसगढ़ कॉलेज से बीए और एम ए किया उसके बाद 1969 में दुर्गा कॉलेज से पत्रकारिता की डिग्री ली। इस बीच उन्होंने 1961 में फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर के एजेंट के रूप में पहली नौकरी शुरू की। इसके बाद जनगणना कार्यालय और कृषि विभाग में काम किया। इसके बाद पूरे 29 साल उन्होंने देशबंधु अखबार में नौकरी की। उन दिनों देशबंधु अखबार का नाम नई दुनिया हुआ करता था। 1967 से 1995 तक वे देशबंधु अखबार में कार्यरत रहे और वहाँ जम कर अपनी कला साधना की। देशबंधु के साहित्य विभाग से निकलने वाले सारे अंक के मुख्य पृष्ठ में उनकी कला को हजारों पाठकों ने देखा।

उसके बाद 1995 से 2009 तक वो दैनिक भास्कर रायपुर में कार्यरत रहे। भास्कर छोड़ने के बाद क्रमशः उन्होंने तहलका, हरिभूमि, महाकौशल, नवभारत में सेवाएं दी। चैनल इंडिया में वे जनरल मैनेजर के पद पर भी कार्यरत रहे। उसके बाद लोकमाया अखबार में प्रधान संपादक भी रहे। संशाधनों की कमी के चलते उन्होंने कई अहम सरकारी पदों से वो वंचित भी रहे।

उम्रदराज होने के बाद भी इस बीच श्री शर्मा ने जैन चातुर्मास रिपोर्टिंग के चलते कमल मुनि, मनीष सागर, विद्या सागर, दिगम्बर स्वामी और तरूण सागर जी के दिव्य वचनों को आम लोगों तक पहुँचाने का कर्तव्य निभाया। एक श्रेष्ठ कलाकार और अनुवादक के रूप में मीडिया में उनकी पहचान खूब रही। रमेश जी एक बेहतर रंगोली कलाकार के रूप में भी बेहद प्रसिद्ध रहे, दीपावली के दौरान उनकी डाली भव्य और सुंदर रंगोली के देखने लोग दूर- दूर से आते थे।

पेंसिल आर्ट, वॉटर कलर्स, पोस्टर और ऑइल पेंट, पोट्रेट से लेकर रमेश शर्मा ने कला के सारे अंगो में नैसर्गिक प्रतिभा जन्मजात पाई। हालांकि ये काम उनकी कला साधना के समुंदर के कुछ अंश ही हैं।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE