business

Xiaomi भारत में 100 से ज्यादा नए रिटेल स्टोर खोलेगी

जानी-मानी मोबाइल कंपनी शाओमी (Xiaomi) भारत में 100 से ज्यादा नए रिटेल स्टोर खोलने जा रही है. Xiaomi की योजना भारत में 100 करोड़ रुपये की लागत से 2 साल में 6,000 स्टोर खोलने की भी है. कंपनी पूर्वी भारत में 12, पश्चिमी भारत में 26, उत्तर भारत में 29 जबकि दक्षिण भारत में 33 एक्सक्लूसिव स्टोर खोलेगी. ऐसे में आपके पास भी शाओमी के साथ जुड़ने का बेहतर मौका है. अगर आप बिजनेस करने की सोच रहे हैं तो शाओमी फ्रेंचाइजी स्टोर पर विचार कर सकते हैं.

मार्केट रिसर्च फर्म Statcounter की रिपोर्ट के मुताबिक, Xiaomi भारत की नंबर-1 स्मार्टफोन कंपनी बनकर उभरी है. भारत में Xiaomi का मार्केट शेयर 27.63 फीसदी हो गया है. Xiaomi के बाद 17.7 फीसदी के साथ Samsung भारत की दूसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन कंपनी रही है.

छोटे शहरों पर फोकस

शाओमी भारत में अपनी स्थिति और मजबूत करने के लिए लेवल 5 और लेवल 6 मार्केट में 100 से ज्यादा रिटेल स्टोर का उद्घाटन करेगी. ये शहर 50,000 से कम आबादी वाले हैं. कंपनी देश के दूर-दराज के इलाकों तक पहुंच बनाने और सभी के लिए टेक्नोलॉजी को और आसान बनाकर ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करेगी.

Xiaomi फ्रेंचाइजी स्टोर के लिए स्पेस

‘Mi स्टोर का एवरेज साइज 300 वर्ग फीट का है, जिसमें Mi होम स्टोर का औसत आकार 1,200 वर्ग फुट का है. एक गांव में अधिकतम दो Mi स्टोर्स हो सकते हैं. अगर आप भी स्टोर खोलने के इच्छुक हैं तो कंपनी की Mi वेबसाइट पर जाकर Mi स्टोर्स फ्रेंचाइजी एप्लीकेशन फार्म भरना होगा.

कितना करना होगा निवेश

शाओमी स्टोर फ्रेंचाइजी के लिए 12 लाख से 15 लाख रुपए का निवेश की आवश्यकता होगी जिसमें 6-8 लाक रुपए स्टॉक इन्वेस्टमेंट, सिविल इन्वेस्टमेंट, फिक्सर इन्वेस्टमेंट और सिक्योरिटी डिपॉजिटी शामिल है. रिटेलर डिपॉजिट 2 साल के संचालन के बाद रिटेलर को वापस कर दिया जाएगा.

कितनी होगी कमाई

शाओमी के मुताबिक, कमाई की क्षमता आप पर निर्भर करेगी. फ्रेंचाइजी के मालिक के रूप में आपके फ्रेंचाइजी के स्थान, बिक्री बढ़ाने की क्षमता पर निर्भर करेगा.

कंपनी की ऑफिशियल वेबसाइट पर बताया गया है कि आपके स्टोर को सफल बनाने के लिए कंपनी आपकी मदद करें. ब्रांडिंग और क्लैडिंग लागत, प्रारंभिक और चल रहे ट्रेनिंग प्रोग्राम और किसी भी/सभी स्टोर संचालन पर लिखित या ऑनलाइन सामग्री, बुककीपिंग और बैक ऑफिस सपोर्ट, फाइनेंशियल रिपोर्टक, इन्वेंट्री ऑडिट्स, प्रोडक्ट डेवलपमेंट और मर्केंडाइज असिस्टेंस आदि पर कंपनी अपना निवेश करेगी.

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE