City

भाजपा ने कहा-पिछले वर्ष की तुलना में राजस्व आय 1226.23 करोड़ रुपए घटी

रायपुर(realtimes) भाजपा आर्थिक प्रकोष्ठ के अमित चिमनानी ने कैग रिपोर्ट पर कहा, प्रदेश के मंत्री रविंद्र चौबे ने कैग की रिपोर्ट में प्रतिक्रिया देते हुए राज्य की आय में कमी का कारण कोरोना को बताया है, जबकि कैग की रिपोर्ट कोरोनाकाल के पहले की मार्च 2020 तक की है। छत्तीसगढ़ बनने के बाद पहली बार राज्य 9608.61 करोड़ों रुपए के राजस्व घाटे में है। वहीं पिछले वर्ष की तुलना में राजस्व आय 1226.23 करोड़ रुपए घटी है।

श्री चिमनानी ने एकात्म परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, पिछले 2 वर्षों में पूंजीगत व्यय में 1098 करोड़ व 337 करोड़ रुपए की कमी हुई है। सरकार ने कुल 7265.79 करोड़ का निवेश किया। सरकार के पास 11,396 करोड़ की राशि होने के बाद भी उन्होंने बैंक से लोन लिया। यह सरकार बैंक से लोन लेकर ब्याज भर के दिवालिया होने की इच्छा रखती है। उन्होंने कहा कि 145 प्रोजेक्ट 2020 तक पूरे किए जाने थे, जो पूरे नहीं हुए है। श्री चिमनानी ने कहा, सरकार दावे बड़े-बड़े करती है, लेकिन उन्होंने बजट का एक बड़ा हिस्सा खर्च ही नहीं किया, जिसकी वजह से 1527 करोड़ रुपए लेप्स हो गए। नियम के मुताबिक यदि सरकार कोई राशि खर्च नहीं कर पाती तो सरकार को सरेंडर करना चाहिए, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार 9 हजार 608 करोड़ का राजस्व घाटा हुआ। उन्होंने कहा, कांग्रेस सरकार ने वित्तीय घाटे की सारी सीमाओं को लांघ दिया है। भाजपा की सरकार में कभी ऐसा नहीं हुआ। प्रदेश की आय 1226 करोड़ कम हुई है। भाजपा की सरकार ने 41 हजार करोड़ का कर्ज छोड़ा था, अब वो बढ़कर 80 हजार करोड़ रुपए हो गया है। सरकार ने बिना अनुमति के 6 हजार 682 करोड़ की राशि खर्च की।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE