national

किसानों को ‘मवाली’ बताकर बुरी फंसी केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी, किसान नेता बोले – 80 करोड़ किसानों का अपमान, लेखी अनाज खाना बंद करें, खुद पर शर्म करें

इंटरनेट डेस्क। भाजपा नेता और मोदी मंत्रिमंडल में हाल ही में शामिल की गईं केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी किसानों पर एक आपत्तिजनक कमेंट करके बुरी फंस गई हैं। किसान नेताओं सहित विपक्ष भी उनको इस बयान के बाद आडे हाथों ले रहा है। मीनाक्षी लेखी ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किसानों को मवाली बताया था। उन्होंने कहा था कि प्रदर्शन कर रहे किसान किसान नहीं हैं ये मवाली हैं। उन्होंने आज के प्रदर्शन पर कहा कि ये आपराधिक कृत्य हैं। 26 जनवरी को जो हुआ वह भी शर्मनाक आपराधिक गतिविधियां थी। 

 

They are not farmers, they are hooligans… These are criminal acts. What happened on January 26 was also shameful criminals activities. Opposition promoted such activities: Union Minister Meenakshi Lekhi on alleged attack on a media person at ‘Farmers’ Parliament’ today pic.twitter.com/72OARBh1n0
— ANI (@ANI) July 22, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, उनके बयान की आलोचना करते हुए किसान नेता शिव कुमार कक्का ने कहा कि ऐसी टिप्पणी भारत के 80 करोड़ किसानों का अपमान है। अगर हम गुंडे हैं तो मीनाक्षी लेखी जी को हमारे द्वारा उगाए गए अनाज को खाना बंद कर देना चाहिए। उसे खुद पर शर्म आनी चाहिए।

 

Such a remark is an insult to 80 crore farmers of India. If we’re hooligans, Meenakshi Lekhi ji should stop eating foodgrain grown by us. She should be ashamed of herself. We’ve passed a resolution in ‘Farmers’ Parliament condemning her statement: Farmer leader Shiv Kumar Kakka pic.twitter.com/LZQiWpOhEX
— ANI (@ANI) July 22, 2021

उन्होंने कहा कि हमने उनके बयान की निंदा करते हुए ‘किसान संसद’ में एक प्रस्ताव पारित किया है। वहीं उन्होंने किसान संसद के दौरान पत्रकार पर किए गए हमले की भी निंदा की है। उन्होंने आगे इस तरह के घटनाक्रम को रोकने की अपील की है। 

 

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button