business

तुरंत कार चाहिए या महिंद्रा की जीप थार तो भूल जाएं, आज बुकिंग करने पर अगले साल ही मिलेगी

रायपुर(realtimes) अगर आप तुरंत कार लेना चाहते हैं और साचते हैं कि पहले की तरह किसी भी कार के शाेरूम में जाकर कार पसंद करके ले सकते हैं ताे भूल जाएं। प्रदेश में कोरोनाकाल में एक तरफ जहां चारपहिया वाहनों की ब्रिकी में भारी इजाफा हुआ है, वहीं अब तक कई ऐसे मॉडल हैं जिनकी वेटिंग 8 माह तक बनी हुई है। इन मॉडलों की अगर कोई आज बुकिंग करता है तो ये मॉडल उनको अगले साल ही मिल पाएंगे। देश के साथ प्रदेश में चार पहिया वाहनों पर लंबी वेटिंग हो गई है। ऐसा कोई मॉडल नहीं है, जो ऑन डिमांड मिल जाए। इस समय महिंद्रा की जीप थार ऐसा माॅडल है जो 8 माह से पहले मिलना संभव नहीं है। लगभग इतनी ही वेटिंग हुंडई के क्रेटा कार की है।

कोरोना को एक साल से ज्यादा हो गया है। इसके कहर से जहां तक अब देश नहीं उबर पाया है, वहीं इसका बड़ा असर ऑटोमोबाइल्स सेक्टर पर भी पड़ा है। इस सेक्टर में खासकर कार बनाने वाली कंपनियां अब तक अपना पहले जैसा उत्पादन नहीं कर पा रही हैं। इसके पीछे वजह यह है कि अब तक इन कंपनियों की फैक्ट्रियों में, जितने मजदूर पहले काम करते थे, उतने इस समय नहीं है। कोरोना के डर के कारण कई राज्यों के मजदूर काम पर वापस लौटे ही नहीं हैं। मजदूरों की कमी के कारण उत्पादन प्रभावित हुआ है। इस समय हर कंपनी में 60 से 70 फीसदी ही उत्पादन हो रहा है।

बीएस-6 ने बिगाड़ा गणित

कारों के मॉडल अब बीएस-6 बन रहे हैं। इनमें लगने वाले इलेक्ट्राॅनिक्स आइटमों की ज्यादा मारामारी हो गई है, इसके कारण उत्पादन का सारा गणित बिगड़ गया है। साथ ही कारों के उत्पादन में परेशानी हो रही है। राजधानी के कार डीलरों का कहना है, अगर एक कार में हजार तरह के अलग-अलग आइटम लगते हैं तो इन आइटमों का उत्पादन करने वाली फैक्ट्रियों में भी मजदूरों की कमी के कारण पूरा उत्पादन नहीं हो पा रहा है। ऐसा होने से आइटम मिलने में देर हो रही है। कई आइटम जहां अपने देश में बनते हैं, वहीं कई आइटम दूसरे देशों से भी आते हैं। दूसरे देशों से आने वाले आइटम भी उतनी संख्या में नहीं मिल पा रहे हैं जितन संख्या में इनकी जरूरत है।

इन मॉडल्स के लिए लंबा इंतजार

देश की प्रमुख वाहन निर्माता कंपनियों में शुमार महिंद्रा एंड महिंद्रा की की थार जीप इस लिस्ट में नंबर एक पर है। स्वदेशी वाहन निर्माता की सेकेंड जनरेशन थार को भारत में पिछले साल लांच किया गया था, तब से ही इस जीप के चाहने वाले बेहद बढ़ गए हैं। प्रदेश के वाहन डीलरों का कहना है, कंपनी द्वारा जारी की गई जानकारी के मुताबिक थार की बुकिंग लगभग 70 हजार के पार पहुंच गई है और वेटिंग पीरियड की बात करें तो देश के कई राज्यों में इसका वेटिंग पीरियड एक साल के पार हो गया है। छत्तीसगढ़ में 8 माह से पहले इसके मिलने की संभावना नहीं है। यहां पर इस समय कम से कम दो तीन सौ जीप की बुकिंग है। इसके अलावा होंडा की क्रेटा कार, निशान की मैग्नाइट, मारुति की अटरिया कार में तीन से चार माह की वेटिंग है। इसी के साथ महिंद्रा की बोलेरो, स्कार्पियो और मारुति के रनिंग मॉडलों के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। किसी भी कंपनी का कोई भी ऐसा मॉडल नहीं है जो ऑन डिमांड मिल जाए। टाटा की कारों में तीन से चार माह की वेटिंग है।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button