national

Darjeeling पहुंचे बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़, टीएमसी ने काले झंडों से जताई नफरत

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ 21 जून से एक सप्ताह के दौरे पर उत्तर बंगाल पहुंचेंगे। अलीपुरद्वार से भाजपा सांसद जॉन बारला द्वारा पार्टी सहयोगी के साथ उत्तर बंगाल को केंद्र शासित प्रदेश बनाने की मांग को लेकर एक ताजा विवाद खड़ा हो गया है। अन्य में जलपाईगुड़ी लोकसभा सीट से विधायक जयंत रॉय हैं जो 15 जून को इसके समर्थन में आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री बनर्जी ने भाजपा पर बंगाल को विभाजित करने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस तरह के प्रयास कभी सफल नहीं होंगे। आपको बता दें कि चुनाव बाद हिंसा के आरोपों के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दो बार मुलाकात करने के कुछ दिनों के भीतर ही उनका यह दौरा भी हो गया है। राज्यपाल के एक दिन बाद भाजपा विधायकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति के कथित बिगड़ने पर याचिका दायर की थी। धनखड़ इस बीच शाह से दो बार गुरुवार और शनिवार को भी मिले। अपनी पांच दिवसीय दिल्ली यात्रा के दौरान, राज्यपाल ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति अरुण कुमार मिश्रा से भी शिष्टाचार मुलाकात की। धनखड़ ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि वह राज्य में चुनाव के बाद हुई हिंसा पर चुप हैं। धनखड़ का दो महीने में उत्तर बंगाल का यह दूसरा दौरा है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के परिणामों की घोषणा के बाद, जिसमें ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस ने भारी बहुमत से जीत हासिल की। उन्होंने पड़ोसी असम के रणपगली का भी दौरा किया था जहां लोगों ने 'हिंसा' के कारण शरण ली थी। राज्यपाल ने रविवार को ट्वीट किया कि वह 21 जून से एक सप्ताह के उत्तर बंगाल के दौरे पर जाएंगे। वह कुर्सेओंग में रुकने के बाद बागडोगरा हवाई अड्डे से दार्जिलिंग के लिए रवाना होंगे। धनखड़ ने हालांकि अपनी यात्रा का कोई कारण नहीं बताया।

जुलाई 2019 में पदभार संभालने के बाद से कई मुद्दों पर आमने-सामने रहे धनखड़ ने राज्य में पुलिस और प्रशासन पर पक्षपात करने का भी आरोप लगाया।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button