national

Mumbai: विशेष सत्र के तहत भिखारियों और रेहड़ी-पटरी वालों को मिलेगी मुफ्त वैक्सीन

मुंबई: महाराष्ट्र में कोरोना का कहर अब कम होता जा रहा है. आप सभी इस बात से वाकिफ ही होंगे कि महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई. फिलहाल शहर में अभी भी बड़ी संख्या में नए कोरोना मरीज मिल रहे हैं, लेकिन अब पॉजिटिविटी रेट पहले के मुकाबले काफी कम है। इन सबके बीच सरकार शहर में टीकाकरण अभियान चला रही है। सभी लोगों से वैक्सीन लगवाने के लिए कहा जा रहा है. फिलहाल सरकार विशेष सत्र में लोगों का टीकाकरण कर रही है। शहर में एक जैन मंदिर, जिसे कोविड टीकाकरण केंद्र के रूप में बनाया गया है, अब भिखारियों और रेहड़ी-पटरी वालों को नि:शुल्क टीका लगाया जा रहा है। दरअसल, विशेष सत्र के तहत भिखारियों और रेहड़ी-पटरी वालों का टीकाकरण किया जा रहा है.

आप जानते ही होंगे कि ये लोग दूसरे लोगों के संपर्क में सबसे ज्यादा आते हैं और इसी वजह से इनके फैलने की संभावना कई गुना बढ़ जाती है। इन सब को देखते हुए सरकार भिखारियों और रेहड़ी-पटरी वालों को भी जल्द से जल्द टीका लगाने की प्रक्रिया में है। वहीं, महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना संक्रमण के 10,107 नए मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं, राज्य में 10,567 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं और 237 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। राज्य में अब कुल कोरोना मामलों की संख्या 59 लाख 34 हजार 880 हो गई है और 1 लाख 36 हजार 661 सक्रिय मामले हैं। इस बीच टीकाकरण घोटाले की भी खबरें आई हैं।

दरअसल कांदिवली इलाके में एक हाउसिंग सोसाइटी में रहने वाले कई लोग टीकाकरण घोटालों का शिकार हो चुके हैं. मामले में सोसायटी के सदस्यों ने आरोप लगाया कि ''कुछ लोग मुंबई के एक प्रतिष्ठित अस्पताल में कर्मचारी बनकर आए और उन्हें नकली कोरोना वैक्सीन का इंजेक्शन लगाया गया.'' साथ ही लोगों का यह भी कहना है कि ''टीकाकरण के बाद हमारे मोबाइल पर कोई मैसेज नहीं आया. इसके अलावा हमें टीकाकरण के दौरान सेल्फी या फोटो लेने की इजाजत नहीं थी. वहीं, उस वक्त किसी को कोई सर्टिफिकेट नहीं दिया गया. टीकाकरण"।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE