national

Banka में विस्फोट से मदरसा भवन क्षतिग्रस्त, दम घुटने से मौलाना की मौत

बांका : बिहार के बांका जिले के एक मदरसे में हुए विस्फोट की जांच के बीच प्रशासन ने कुछ चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. मीडिया रिपोर्ट्स में जिला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक के हवाले से मदरसा को अवैध बताया गया है. धमाका कंटेनर में रखे देसी बम से हुआ। इस बीच मौलाना की मौत का कारण दम घुटने को बताया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि कई टीमें अलग-अलग बिंदुओं पर जांच कर रही हैं। इसमें मुख्य रूप से सेंट्रल आईबी, एटीएस और एसआईटी शामिल हैं। जिला कलेक्टर सुहर्ष भगत व एसपी अरविंद कुमार गुप्ता ने गुरुवार (10 जून 2021) को प्रेस वार्ता में बताया कि आईडी ब्लास्ट के साक्ष्य नहीं मिले हैं. देसी बम से धमाका हुआ है। मौके से बम बनाने में इस्तेमाल की गई सुतली, कील और कंटेनर का टुकड़ा मिला है। बम कितना शक्तिशाली था यह एसएफएल रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगा।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि फटा देसी बम मदरसे के एक कमरे में गेट के पास एक कंटेनर में रखा गया था. अभी तक मृतक मौलाना की संदिग्ध गतिविधियों के बारे में कोई सबूत नहीं मिल पाया है। डीएम ने कहा कि मदरसे का रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ था. यह 18-20 साल से रियायती जमीन पर चल रहा था और 50-60 बच्चों को शिक्षा दी जा रही थी। इस विस्फोट में मदरसा इमाम मौलाना अब्दुल मोबिन घायल हो गए थे। बाद में उनकी मृत्यु हो गई। मौलाना मदरसे में रहते थे। विस्फोट के बाद उनकी श्वसन नली धुएं से भर गई। दम घुटने और भारी मलबे में दबने से उसकी मौत हो गई। मामले की जांच दोनों गांवों के बीच विवाद के एंगल से भी की जा रही है।

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button