national

केंद्र सरकार ने तीसरी लहर को देखते हुए 18 वर्ष से कम उम्र वालों के लिए जारी की नई गाइडलाइन, Remdesivir का इस्तेमाल न करने के दिए निर्देश

इंटरनेट डेस्क। देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर को देखते हुए केंद्र सरकार इस से बचाव के लिए नई गाइडलाइन जारी की है। विशेषज्ञों का मानना है कि तीसरी लहर का बच्चों पर ज्यादा असर पड़ सकता है। केंद्र सरकार ने 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में कोरोना होने पर उनके इलाज के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है। 


मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गाइडलाइन में कोरोना के इलाज के लिए बच्चों को रेमडेसिविर ना देने के बारे में स्पष्ट कहा गया है। बेहद जरूरी होने पर ही सीटी स्कैन कराएं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में रेमडेसिविर का इस्तेमाल करने पर उन पर इसका क्या असर पड़ेगा और ये उनके लिए कितनी सुरक्षित है इसको लेकर अभी तक पर्याप्त डाटा उपलब्ध नहीं है। 


 

डीजीएचएस ने अपनी गाइडलाइन में 12 वर्ष से ऊपर के बच्चों के लिए उंगली में पल्स ऑक्सीमीटर लगा कर 6 मिनट का वॉक टेस्ट लेने की भी सलाह दी है। कोरोना संक्रमित बच्चों की शारीरिक क्षमता का ओपटा करने के लिए इस टेस्ट की सलाह दी गयी है। 

 

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button