national

देश में कोरोना के कारण बिगड़ती स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने के लिए RBI ने की बड़ी घोषणा, हेल्थ सेक्टर को 50 हजार करोड़

इंटरनेट डेस्क। भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शशिकान्त दास ने आज बुधवार सुबह 10 बजे प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोनाकाल में बड़ी घोषणा की है। उन्होंने कोरोना जैसी वैश्विक बीमारी से लड़ने के लिए हेल्थ सेक्टर को 50 हजार करोड़ की मदद दी है। आरबीआई गवर्नर ने इस दौरान कहा कि सेन्ट्रल बैंक कोरोना की परिस्थितियों पर लगातार नजर बनाए हुए है। उन्होंने ये भी कहा कि दुनिया के मुकाबले भारत में कोरोना से रिकवरी बड़ी तेज गति से हो रही है। वहीं उन्होंने दूसरी लहर को खतरनाक भी बताया है।

 

RBI announces Rs 50,000 crore liquidity for ramping up COVID-related healthcare infrastructure and services till March 2022: Governor Shaktikanta Das pic.twitter.com/PjBoEJVTsE
— ANI (@ANI) May 5, 2021

एएनआई न्यूज एजेंसी के अनुसार, दास ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर से लड़ने के लिए बैंकों द्वारा 31 मार्च 2022 तक अस्पतालों, ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ताओं, वैक्सीन आयातकों, कोविड दवाओं के लिए 50,000 करोड़ रुपये की प्राथमिकता पर आधारित कर्ज देने की घोषणा की गई है। 
 

Given the positive response from the market, it has been decided that the second purchase of govt securities for an aggregate amount of Rs 35,000 crores under G-SAP 1.0 will be conducted on 20th May: RBI Governor Shaktikanta Das pic.twitter.com/Ur96rI5q4U
— ANI (@ANI) May 5, 2021

उन्होंने साथ ही बैंकों को कोविड लोन बुक बनाने का निर्देश, साथ ही प्रायोरियटी सेक्टर लिए इंसेंटिव का ऐलान भी किया है। आरबीआई ने 25 करोड़ रुपये तक कर्ज लेने वाले व्यक्तिगत, छोटे उधारकर्ताओं को ऋण के पुनर्गठन का दूसरा मौका दिया है। 

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button