State

“मुख्यमंत्री राहत कोष” में मंत्री और विधायक देंगे एक माह का वेतन

मुख्यमंत्री ने वर्चुअल बैठक में कॉग्रेस पार्टी के विधायकों से की चर्चा

रायपुर(realtimes) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज यहां मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य में कोरोना की स्थिति पर नियंत्रण के संबंध में मंत्रीगणों सहित कॉग्रेस पार्टी के विधायकों तथा महापौर और जनप्रतिनिधियों से चर्चा की और उनसे महत्वपूर्ण सुझाव भी लिए। उन्होंने चर्चा करते हुए राज्य में कोरोना पर शीघ्रता से नियंत्रण के लिए टेस्टिंग तथा वैक्सीनेशन के कार्य को तेजी से बढ़ाने सहित मरीजों के बेहतर इलाज सुविधा के लिए विशेष जोर दिया।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि राज्य में कोरोना के मौजूदा हालात और इसके संक्रमण पर नियंत्रण के लिए हर आवश्यक उपाय किए जा रहे हैं और सभी के सहयोग से सतत निगरानी रखी जा रही है। इसके नियंत्रण में सरकार के साथ-साथ सभी लोग आगे आएं और कोरोना को हराने में अहम भागीदारी निभाएं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने चर्चा के दौरान कोरोना नियंत्रण के लिए कॉग्रेस पार्टी के सभी विधायकों और महापौर तथा पार्षदों को अभी अपने एक-एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने के लिए आग्रह किया, जिस पर उनके द्वारा तुरंत सहमति प्रदान कर दी गई। इसके साथ ही वीडियो कॉन्फ्रंेसिंग से जुड़े विभिन्न आयोग तथा मण्डलों के अध्यक्षों ने भी इसमें अपनी सहमति प्रदान की। उन्होंने राज्य में कोरोना नियंत्रण के लिए विधायक निधि आदि का स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार में अधिक से अधिक उपयोग के लिए कहा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आगे चर्चा करते हुए कहा कि राज्य में एयरपोर्ट तथा रेलवे स्टेशनों छत्तीसगढ़ आने वाले यात्रियों की जांच की व्यवस्था की तरह गांवों में भी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कहा है। इसके तहत ग्रामीण अंचलों में क्वारेंटाईन सेंटर बनाने और वहां बाहर से सड़क मार्ग से आने वाले प्रवासी लोगों को जांच रिपोर्ट के आने तक रखने के संबंध में दिशा निर्देश दिए। इसके लिए गांवों में सरपंच तथा कोटवारों को जिम्मा देने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि इस बार गांवों में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसे रोकने के लिए बाहर से आने वाले प्रवासी लोगों की जांच कराना आवश्यक है। उन्होंने छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती इलाकों सहित महाराष्ट्र से लगने वाली सभी सीमाओं पर यात्रियों की कड़ाई से जांच भी सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान पार्टी के पदाधिकारियों को गतवर्ष की तरह जरूरतमंदों की भोजन व्यवस्था में सहयोग करने के लिए कहा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने राज्य में मरीजों के बेहतर इलाज के लिए कोविड सेंटर तथा क्वारेंटाईन सेंटर तेजी से खोलने सहित ऑक्सीजन और जरूरी दवाईओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के संबंध मंे विस्तार से चर्चा की। उन्होंने बताया कि राज्य में मरीजों की शीघ्रता से इलाज के लिए तेजी से स्वास्थ्य सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में 45 वर्ष से अधिक के 58.67 लाख नागरिकों के टीकाकरण का लक्ष्य है। इसमें से अब तक 33 लाख 52 हजार अर्थात 57 प्रतिशत लोगों को कोरोना से बचाव का पहला टीका लगाया जा चुका है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री निवास में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू तथा उद्योग मंत्री कवासी लखमा, मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा भी मौजूद थे। वर्चुअल बैठक में स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे तथा राज्यसभा सांसद पी.एल. पुनिया, राज्यसभा सांसद छाया वर्मा, डॉ. चंदन यादव, छत्तीसगढ़ कॉग्रेस कमेटी के अध्यक्ष तथा विधायक मोहन मरकाम ने सम्बोधित किया और विभिन्न जिलों से विधायक, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी, महापौर सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियों ने चर्चा में भाग लेते हुए महत्वपूर्ण सुझाव दिए।   

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button