State

रायपुर जिले में बनाए जा रहे हैं 12 नए कोविड-19 केयर सेंटर

आक्सीजन सुविधायुक्त 760 बेड सहित 2730 बेड की व्यवस्था होगी

रायपुर(realtimes) काेराेना से लड़ने के लिए रायपुर जिले में विशेष व्यवस्था की जा रही है। कलेक्टर रायपुर डाॅ. एस. भारतीदासन ने बताया कि रायपुर जिले में कोरोना के प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण की दृष्टि से जहां मेडिकल काॅलेज, एम्स, आयुर्वेदिक काॅलेज, लालपुर और माना में कोविड केयर सेंटर संचालित है वहीं 12 नए कोविड केयर सेंटर बनाने का कार्य तेजी से संचालित है। इससे जिले में 760 आॅक्सीजन सुविधायुक्त बेड की व्यवस्था बढ़ेगी तथा करीब 2730 बेड की व्यवस्था होगी।

कलेक्टर ने बताया कि वूमेन वर्किंग हाॅस्टल फुंडहर के कोविड केयर सेंटर में 270 बेड की व्यवस्था होगी जिसमें 15 बेड आक्सीजन की सुविधा युक्त होंगे। इंस्टीट्यूट आफ होटल मैनेजमेंट, नया रायपुर और आयुष विश्वविद्यालय के कोविड केयर सेंटर में 4-4 सौ बेड की व्यवस्था होगी। हीरापुर कोविड केयर सेंटर में 300 बेड की व्यवस्था होगी, जिसमें 15 ऑक्सीजन सुविधायुक्त बेड होंगे। रायपुर के इंडोर स्टेडियम में 260 बेड की व्यवस्था होगी, जिसने 50 बेड ऑक्सीजन सुविधायुक्त होंगे। प्रयास बालक छात्रावास सद्दू एवं प्रयास बालिका छात्रावास गुढ़ियारी में 3-3 सौ बेड की व्यवस्था होगी। ई एस आई हॉस्पिटल, रायपुर में भी कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। यहां 200 बेड की सुविधा होगी जिसमें 100 बेड ऑक्सीजन सुविधायुक्त रहेंगे है।

कलेक्टर ने बताया कि रायपुर जिले के सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में 100 बेड की क्षमता वाले कोविड केयर सेंटर की व्यवस्था की जा रही है। इन सेंटर में 20-20 आक्सीजन युक्त बेड होंगे। इसके अलावा कोविड केयर सेंटर लालपुर में आक्सीजन की सुविधायुक्त 100 बेड और आयुर्वेदिक कॉलेज के कोविड केयर सेंटर में 400 ऑक्सीजन बेड की व्यवस्था की जा रही है।

कलेक्टर ने बताया कि रायपुर जिले में 46 कंटेनमेंट जोन बनाये गये है। जहां 5 या 5 से अधिक कोरोना प्रभावित नागरिक पाये गये है। उन्होंने बताया कि रायपुर जिले में 100 एक्टिव सर्विलेंस की टीम घर-घर पहुंचकर सर्वेंक्षण करने के साथ कोरोना से बचाव एवं नियंत्रण के लिए कार्य कर रही है। कलेक्टर ने बताया कि टेस्टिंग के दौरान सेंटरों में 55 वर्ष से अधिक आयु वर्ग का एंटीजन टेस्ट पॉजिटिव होने पर उन्हें सीधे हॉस्पिटल भेजने और उनके ईलाज की व्यवस्था की जा रही है। इसी तरह होमआइसोलेशन के मरीजों को उनके घर तक पहंुचकर मेडिसिन देने की सुविधा दी जा रही है। होम आइसोलेशन के मरीजों को आपात स्थिति में अस्पताल तक पहंुचाने के लिए 10 इमरजेंसी वाहन की व्यवस्था की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button