City

मंत्रालय में गांधीजी की पुरानी प्रतिमा लगाने पर बवाल

विधानसभा में पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मुद्दा उठाया
सीएम के इस्तीफे की मांग, सदन में हंगामा

रायपुर(realtimes) छत्तीसगढ़ में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुरानी प्रतिमा को लेकर बवाल हो गया है। मंत्रालय में महात्मा गांधी की पुरानी प्रतिमा लगाने का मुद्दा शून्यकाल में विधानसभा में स्थगन प्रस्ताव के माध्यम से विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने उठाया। उन्होंने कहा कि गुलाबी गांधी के चक्कर में सरकार पुरानी प्रतिमा का अनावरण करा रही दी, इसके लिए दो अधिकारियों को नोटिस भी दिया गया है।

भाजपा शिवरतन शर्मा ने कहा कि पुरानी प्रतिमा स्थापित की गई और अनावरण मुख्यमंत्री से कराया गया। बिल कलाकार के नाम पर प्रस्तुत नहीं किया गया, बल्कि संस्कृति विभाग को पेमेंट किया गया। महात्मा गांधी के नाम पर भ्रष्टाचार करने में भी यह सरकार नहीं चूक रही है। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने कहा कि  स्वतंत्र भारत में ऐसा कभी नहीं हुआ है। पिछले वर्ष गांधीजी के नाम पर सदन का सत्र हुआ। सरकार ने कहा था कि पूरे साल गांधी के नाम पर आयोजन किया जाएगा। देश में सबसे मजबूत सरकार और गांधी के नाम पर वोट पाने वाली सरकार छत्तीसगढ़ में हैं, लेकिन इस सरकार ने गांधी पर एक भी कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया। यह सरकार लहर गिन कर पैसा कमाने वाली है।  सरकार की संवेदनशीलता मर चुकी है।

नारायण चंदेल ने कहा कि यह देश नहीं दुनिया की अनोखी घटना है। मंत्रालय जो प्रशासन का केंद्र बिंदु है, प्रदेश के लोग बड़ी आशा से जाते हैं और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का दर्शन करते हैं। वहां पर पुरानी मूर्ति को रंग रोगन करके लगाया जाता है। मुख्यमंत्री से उसका अनावरण कराया जाता है और फर्जी बिलिंग की जाती है। सौरभ सिंह ने कहा कि पुरानी मूर्ति का रंग रोगन करके लगाया गया है। इस मामले पर स्थगन के माध्यम से चर्चा कराई जाए। रंजना साहू ने कहा कि प्रदेश सरकार गांधी के आदर्शों पर चल रही है और मंत्रालय जैसे पवित्र स्थान पर खंडित मूर्ति लगा देना। इस पर स्थगन के माध्यम से चर्चा कराएं। कृष्णमुर्ति बांधी ने कहा कि सरकार जिनको आदर्श मानती है उनके नाम पर भ्रष्टाचार कर रही है।

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि सरकार के काम दिखाने के अलग और करने के अलग हैं। गांधीजी की फोटो लगाने से गांधी के आदर्शों पर चलने वाली सरकार नहीं हो जाती है। भ्रष्टाचार की बात रोज आ रही है, लेकिन जिनके आदर्शों पर चलने की बात हो रही है और गांधी की मूर्ति पर ही भ्रष्टाचार हो तो यह भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है। कहीं उपयोग किए गए मूर्ति को लेकर आना, उसको लगाना, मुख्यमंत्री से अनावरण कराना और भुगतान के बारे में गड़बड़ी करना, कभी नहीं हुआ। गांधी की मूर्ति के नाम पर किए भ्रष्टाचार से पूरा छत्तीसगढ़ शर्मसार है।

सीएम के इस्तीफे की मांग

बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इतना गंभीर मामला है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को गलती स्वीकार करके इस्तीफा देना चाहिए। भाजपा विधायकों ने हंगामे और नारेबाजी के बीच मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की। सभापति धर्मजीत सिंह ने कहा कि आसंदी से स्थगन प्रस्ताव को आग्रह करता हूं। उसके बाद भाजपा विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button