national

लोगों को VVIP मूवमेंट से नहीं होगी परेशानी

नई दिल्ली. दिल्ली में नई बन रही संसद में ऐसी सुरंगें बनायी जा रही हैं, जो अंडरग्राउंड रास्तों से पीएम आवास और उपराष्ट्रपति के घर तक जायेंगी. इससे आम लोगों को वीवीआईपी मूवमेंट के चलते परेशानी नहीं होगी और संसद के बाहर ट्रैफिक की आवाजाही सामान्य रूप से जारी रह सकेगी. सेंट्रल विस्टा की निर्माण योजना के अनुसार नया पीएम आवास और पीएमओ साउथ ब्लॉक की तरफ बनाया जायेगा.

नया उपराष्ट्रपति चैंबर नॉर्थ ब्लॉक में होगा और इसके अलावा सांसदों के चैंबर उस तरफ होंगे जहां ट्रांसपोर्ट और श्रम शक्ति भवन हैं. रिपोर्ट के अनुसार ये सुरंगें सिंगल लेन की रहेंगी. इनका इस्तेमाल विशेष रूप से कुछ लोगों द्वारा ही किया जायेगा. बताया गया है कि चूंकि ये छोटे खंड है ऐसे में संसद तक पहुंचने के लिए गोल्फ कोर्ट का इस्तेमाल किया जा सकता है. राष्ट्रपति भवन से इस तरह के लिंक की आवश्यकता नहीं बतायी गयी है.

बताया गया है कि यह कुछ दूरी पर है और राष्ट्रपति की संसद में आना कम और पहले से निर्धारित होता है. सूत्रों ने बताया है कि सेंट्रल विस्टा के रिडेवलपमेंट का प्राथमिक उद्देश्य संसद परिसर के ऊपर और आसपास के क्षेत्र में सार्वजनिक पहुंच को और आसान बनाना है. वर्तमान में सेंट्रल विस्टा और लुटियंस बंगला जोन में कई हिस्सों में सुरक्षा कारणों और वीआइपी आवाजाही के लिए कई बार कड़ी व्यवस्था की जाती है, जिससे लोगों के मूवमेंट पर असर पड़ता है.

आने वाले समय में वीआइपी रास्तों का इस्तेमाल सिर्फ 26 जनवरी की परेड जैसे कार्यक्रमों के लिए किया जा सकता है. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में आने वालों और पर्यटकों का संसद तक पहुंचने को बेहतर बनाने के लिए वीआइपी मूवमेंट्स के लिए हाई सिक्योरिटी की जरूरत है जो आम रास्तों से अलग होगी.

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button