national

Rajya Sabha : बजट सत्र में आज राज्यसभा में घटी बड़ी राजनीतिक घटना, सदन में ही इस्तीफे की घोषणा करते हुए बोले तृणमूल सांसद- यहां मुझे घुटन महसूस हो रही है, मेरे लिए देशहित से ऊपर कुछ नहीं

इंटरनेट डेस्क। बजट सत्र के आखिरी दिन आज शुक्रवार को राज्यसभा में बड़ी राजनीतिक घटना हुई है। राज्यसभा सांसद और तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिनेश त्रिवेदी ने सदन में ही इस्तीफा देने की घोषणा कर दी। आज उन्होंने कहा कि मुझे यहां घुटन महसूस हो रही है। देश हित से ऊपर कुछ नहीं है। पार्टी हित और देश हित में से एक (देश हित) को चुनने का वक्त आ गया है। यह कहते हुए उन्होंने सांसद पद छोड़ने की घोषणा कर दी।

 

I am resigning from Rajya Sabha today. There is violence happening in my state. We cannot speak anything here: TMC Rajya Sabha MP Dinesh Trivedi pic.twitter.com/6xvEYtciwF
— ANI (@ANI) February 12, 2021

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले यह ममता बनर्जी के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। इस्तीफे के बाद इस बात की अटकलें तेज हो गई हैं कि वह बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए दिनेश त्रिवेदी ने राज्यसभा में कहा कि हर मनुष्य के जीवन में एक घड़ी आती है, जब उसको उसकी अंतरआत्मा की आवाज सुनाई देती है।


उन्होंने कहा कि मेरे जीवन में भी ऐसी ही घड़ी आई थी। देश बड़ा है या पक्ष बड़ा है। आज जब देखते हैं कि जब देश की क्या परिस्थिति है। पूरी दुनिया भारत के तरफ देख रही है। राज्यसभा में उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से पश्चिम बंगाल में हिंसा हो रही है। मुझे बैठा-बैठा लगता है कि मैं करूं क्या? असल में हम जन्मभूमि के लिए ही हैं।

 

Grateful to my party that they’ve sent me here. I’m feeling suffocated that we’re not able to do anything over violence in the state. My soul tells me that if you can’t do anything sitting here, then you must resign. I will continue to work for people of WB: TMC MP Dinesh Trivedi pic.twitter.com/E9kho7d4UX
— ANI (@ANI) February 12, 2021

टीएमसी के ही एक सांसद सौगत राय ने कहा कि दिनेश त्रिवेदी के इस्तीफे से हम दुखी हैं। उन्होंने फैसला करने से पहले मुझसे बात नहीं की। हमें नहीं पता कि उन्होंने यह निर्णय क्यों लिया। इससे पहले शुभेंदु अधिकारी और राजीव बनर्जी जैसे मंत्रियों ने बंगाल में ममता बनर्जी का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button