national

Ayodhya : राजनेता ऐसे बयान देकर हिंदू-मुसलमानों को उत्तेजित करते हैं, फिर दंगा होता है…केंद्रीय मंत्री के बाबर वाले बयान पर दुःखी होते हुए बोले इकबाल अंसारी

इंटरनेट डेस्क। अयोध्या में बाबरी मस्जिद का मामला शांत हो चुका है। राम मंदिर निर्माण शुरू हो चुका है। लेकिन राजनेताओं द्वारा इस मुद्दे पर लगातार बयानबाजी जारी है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के रविवार को बाबर को लेकर दिये गए बयान के बाद महाभारत छिड़ गई है। बाबरी मस्जिद के पक्षकारों में से एक रहे और इस मुद्दे से बड़े लंबे समय से जुड़े हुए इकबाल अंसारी राजनेताओं के बयानों से परेशान हैं।

 

Politicians keep giving statements like that. Whatever has happened shouldn’t be remembered. People are provoked when they are reminded of old incidents, so politicians should only talk about unity between Hindus & Muslims: Iqbal Ansari, one of the litigants in Ayodhya case https://t.co/trWoJZFeC3 pic.twitter.com/buowIEIWug
— ANI (@ANI) January 25, 2021

सोमवार को एएनआई से बातचीत करते हुए इकबाल अंसारी ने कहा कि राजनेता ऐसे ही बयान देते रहते हैं। जो कुछ भी हुआ है उसे याद नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब लोग पुरानी घटनाओं की याद दिलाते हैं तो लोग उत्तेजित हो जाते हैं, इसलिए राजनेताओं को केवल हिंदुओं और मुसलमानों के बीच एकता के बारे में बात करनी चाहिए। नफरत फैलाएंगे तो नफरत ही मिलेगी।


गौरतलब है कि रविवार को प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जब विदेशी आक्रमणकारी बाबर भारत आया तो उसने सबसे पहले अयोध्या में भगवान श्री राम के मंदिर को ही क्यों तोड़ा। क्योंकि बाबर जानता था राम मंदिर में ही इस देश की आत्मा बसती है। उन्होंने कहा था कि 6 दिसंबर 1992 एक ऐतिहासिक गलती को खत्म कर दिया गया। 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button