City

तिगुनी हुई अंजुमन कमेटी धमतरी की आय, बक्फ बोर्ड की पहल का असर

रायपुर (Realtimes) छत्तीसगढ़ राज्य वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिज़वी के नेतृत्व में वक़्फ़ संपत्तियों और किरायेदारी को लेकर लंबे समय से चले आ रहे विवादों के त्वरित निबटारे का प्रयास तेज कर दिया गया है। इसी कड़ी में धमतरी की अंजुमन इस्लामिया कमेटी की लगभग डेढ़ सौ दुकानों की दशकों पुरानी किरायेदारी को बढ़ाने की पहल की जा रही है।

इसके तहत नोटिस देकर बुलाये गए दुकानदारों ने काफी ना-नुकर के बाद किराया बढ़ाकर देने को लेकर अपनी सहमति दी। बोर्ड की पहले दिन की ही सुनवाई में अंजुमन कमेटी धमतरी की आय बढकर तिगुनी हो गई है।       

वक़्फ़ बोर्ड के अधीन राज्य भर के मस्जिद, दरगाह, मदरसे और कब्रिस्तान पंजीकृत हैं। जिनकी संपत्तियों की निगरानी का जिम्मा बोर्ड के ऊपर है। अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए वक़्फ़ बोर्ड ने कमेटियों के अधीन संपत्तियों के विवाद के निबटारे की प्रक्रिया तेज कर दी है, इसी तरह कमेटियों द्वारा निर्मित दुकानों के किराए में बढ़ोत्तरी का कार्य भी समय सीमा के भीतर की किया जा रहा है।

बोर्ड के आब्जर्वर की एक टीम द्वारा अंजुमन इस्लामिया कमेटी धमतरी के दौरे के बाद दी गई रिपोर्ट से पता चला कि वहाँ कमेटी की लगभग डेढ़ सौ दुकानों का किराया बहुत ही कम है और किराये की दर दशकों से नहीं बढ़ाई गई है। इसे देखते हुए वक़्फ़ बोर्ड के चैयरमेन सलाम रिज़वी ने एक कमेटी बनाते हुए एक तिहाई दुकानदारों को नोटिस जारी किया।

वक़्फ़ बोर्ड के सी ई ओ डॉ एस ए फारूकी, ऑब्ज़र्वर मो. ताहिर, विधि सलाहकार शाहिद सिद्दीकी और एस के पांडेय की टीम ने अंजुमन के दुकानदारों की बारी बारी से सुनवाई की। इस मौके पर अंजुमन कमेटी , धमतरी के पदाधिकारी भी मौजूद रहे। इस दौरान नई दरों को लेकर अधिकांश दुकानदार असहमति जताते रहे, मगर व्यवसाय में बढ़ोत्तरी और वक़्फ़ कानून का हवाला देकर सभी को तैयार किया गया, और अधिकांश दुकानों का किराया लगभग तीन गुना बढ़ा दिया गया। 

वक़्फ़ बोर्ड के ऑब्जर्वर मो. ताहिर ने बताया कि किराये की दरें 1 जुलाई से बढ़ेंगी। इससे पूर्व सहमति जताने वाले दुकानदारों से एग्रीमेंट कराया जाएगा। 8 जून को हुई इस सुनवाई की अगली कड़ी में 11 और 12 जून को अन्य दुकानदारों को तलब किया गया है। फिलहाल पहली ही सुनवाई में अंजुमन कमेटी, धमतरी की आय में तीन गुना वृध्दि हो गई है।

जिन दुकानदारों ने फिलहाल असहमति जताई है, उन्हें सुनवाई का एक और मौका दिया जाएगा, इसके बाद भी बात नहीं बनी तो वक़्फ़ बोर्ड अपनी शक्तियों का उपयोग करते हुए बेदखली की कार्रवाई भी करेगा।   गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ राज्य वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्ष सलाम रिज़वी की पहल पर इससे पूर्व फ़ातेशाह मस्जिद रायपुर की दुकानों के बढ़े हुए किराए के साथ व्यवसायियों के साथ नया अनुबंध कराया गया, और डेढ़ दशक से चले आ रहे विवाद को निपटाया गया।

इसी तरह जगदलपुर में अंजुमन कमेटी के पदाधिकारियों द्वारा की गई करोडों की गड़बड़ी के मामले में एफआईआर दर्ज कराया गया। वहीं दूसरी वक़्फ़ संपत्तियों के किराए की भी नई दरें तय की जा रही हैं। इससे कमेटियों की आय में बढ़ोतरी होगी और समाज के हित में काम किया जा सकेगा।

National NewsऔरChhattisgarh  से जुड़ी अपडेट्स के लिए हमेंFacebook पर Like करें, Twitter पर Follow करेंऔरYoutube  पर  subscribe करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button