State

कोरोना से छत्तीसगढ़ में पहली माैत, 29 मई

मेटल पार्क का मजदूर था. तीन दिन पहले अस्पताल पहुंचा था
माैत बाद सेंपल की रिपोर्ट आई पाजिटिव

रायपुर(realtimes) छत्तीसगढ़ में दिन-ब दिन बढ़ती कोरोना मरीजों की संख्या दिन ब दिन बढ़ने के बाद शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना से पहली माैत दर्ज की गई है। बीरगांव में रहने वाले युवक ने निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया। उसे लंग्स इंफेक्शन की शिकायत के बाद इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था जहां से लक्षण के आधार पर जांच के लिए सैंपल एम्स भेजा गया था। उसके दम तोड़ने के कुछ देर बाद ही सैंपल की रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। इस माैत के साथ ही प्रदेश में कोरोना से माैत का खाता खुल गया है। इससे पहले करीब 15 दिनों से लगातार कोरोना मरीजों के सामने आने का क्रम चल रहा था,इसकी वजह से प्रदेश में चिंता का वातावरण बन रहा था। पहली माैत के साथ अब राज्य में कोरोना की भयावहता का आभास भी लोगों को परेशान करने वाला है।

प्रदेश में कोरोना के कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर चार सौ से ऊपर हो गई है। शुक्रवार को कोरोना वायरस का शिकार होकर जिस 36 वर्षीय जिस युवक ने दम तोड़ वह बीरगांव के मैटल पार्क का रहने वाला था और उरला की एक निजी फैक्ट्री में काम करता था। युवक की तबियत खराब हुई तो उसे इलाज के लिए 26 मई को राजधानी के निजी अस्पताल में दाखिल किया गया था उसे सांस लेने में शिकायत हो रही थी, उसे निमोनिया, बुखार भी था। तमाम लक्षण के आधार पर उसका सैंपल लेकर जांच के लिए शुक्रवार को एम्स भेजा गया था। युवक की हालत लगातार बिगड़ती गई और दोपहर उसकी मौत हो गई। इधर शाम एम्स ने युवक की रिपोर्ट जारी किया जो पाजिटिव था। यानी युवक कोरोना का शिकार हुआ था। बीरगांव नगर निगम के आयुक्त श्रीकांत वर्मा ने बताया कि युवक के घरवालों से पूछताछ के बाद यह स्पष्ट हुआ है कि उसकी कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं थी। युवक जिसे फैक्ट्री में काम करता था वहां के प्रबंधन और स्टाफ से भी पूछताछ करने के बाद यह पता चला कि फैक्ट्री में किसी बाहरी का आना-जाना मना था। इस बात की आशंका से इंकार नहीं किया जा रहा है कि मोहल्ले में ही किसी संक्रमित व्यक्ति से उसका संपर्क हुआ और वह इसका शिकार हो गया।

मैटलपार्क सील

कोरोना संक्रमण से हुई इस पहली मौत के बाद जिला प्रशासन में हड़ंकप मच गया है। आनन-फानन बीरगांव के प्रभावित इलाके यानी मैटल पार्क को पूरी तरह सील कर दिया गया है। युवक के सभी रिश्तेदारों को क्वारेंटाइन करने के साथ उनके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। वहीं युवक के संपर्क में आने वाले अन्य लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है।

शव परिजनों को नहीं

युवक की मौत कोरोना से होने की पुष्टि होने के बाद नियम के मुताबिक शव परिजनों के सुपुर्द नहीं किया जाएगा। जिला प्रशासन की टीम ही पूरी सावधानी के साथ उसका अंतिम संस्कार करेगा। सूत्रों के मुताबिक युवक का शव विद्युत शवदाह गृह में किया जाएगा। माना जा रहा है कि शव का अंतिम संस्कार शनिवार को प्रक्रिया पूरा होने के बाद किया जाएगा।

पांच नए केस की पुष्टि

शुक्रवार को पांच नए कोरोना पाजिटिव की पुष्टि हुई है। इसमें बिलासपुर के 2, जगदलपुर, महासमुंद, दुर्ग के एक-एक केस है। इसे मिलाकर प्रदेश में कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 321 हो गई है। जबकि कोरोना संक्रमण का कुल मामला 405 हो गया है। इसमें कोरोना से हुई एक मौत का मामला भी शामिल है। प्रदेश में अब तक 83 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

रिपोर्ट में पुष्टि

बीरगांव में रहने वाले युवक का इलाज निजी अस्पताल में चल रहा था। उसमें कोरोना के लक्षण थे, जांच रिपोर्ट भी पाजिटिव आया है। सूचना के बाद युवक जिस इलाके में रहता है उसे सील कर दिया गया है और वहां रहने वालों की जांच की जा रही है। डॉ. मीरा बघेल(सीएमएचओ, रायपुर)

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button