Bollywood

8 ऑस्कर जीतने वाली फिल्म के एक्टर, फिर झुग्गी में रहने को मजबूर

नईदिल्ली(Realtimes) आपको याद ही होगा करीब 10 साल पहले एक फिल्म ने सफलता के झंड़े गाड़े थे, उसका एक-एक गाना लोगों की जुबान पर चढ़ गया था. और इन सबसे ऊपर ये फिल्म 8 ऑस्कर अवॉर्ड जीती थी. हम बात कर रहे हैं ‘स्लमडॉग मिलियनेर’ जिसे जबरदस्त सफलता मिली थी.

जिसके बाद डायरेक्टर डैनी बॉयल ने ‘जय हो’ नाम का ट्रस्ट बनाया था. इस ट्रस्ट का मकसद फिल्म के नन्हें एक्टर्स अजहर और रुबीना कुरैशी की मदद करना था. लेकिन उन्हें एक बार फिर गरीबी की अंधेरी गलियों का सामना करना पड़ रहा है.

डैनी बॉयल की फिल्म स्लमडॉग मिलियनेर में अहम भूमिका निभा चुके बाल-कलाकार अजहरुद्दीन को इस फिल्म में काम करने के बाद काफी पहचान मिली लेकिन वो इसे भुनाने में नाकाम रहे और उन्हें एक बार फिर गरीबी की अंधेरी गलियों का सामना करना पड़ रहा है. मुंबई की झुग्गियों से निकलकर ऑस्कर अवॉर्ड्स तक का सफर तय करने वाले अजहरुद्दीन इस्माइल एक बार फिर अर्श से फर्श पर आ गए हैं. 

दरअसल ये दोनों बच्चे मुंबई की झुग्गियों में रहते थे लेकिन जय हो चैरिटेबल ट्रस्ट के चलते दोनों बच्चों की जिंदगी को बेहतर बनाने की कोशिश की गई और दोनों बाल कलाकारों को फ्लैट्स और मासिक भत्ता भी ट्रस्ट की तरफ से मिलने लगा था. स्लमडॉग मिलियनेर के 10 साल बाद अजहर अपने सांता क्रूज में स्थित फ्लैट को बेच चुके हैं और एक बार फिर झुग्गियों में रह रहे हैं.

पिछले कुछ समय में ये एक्टर ना केवल अपनी लोकप्रियता खो चुके हैं बल्कि अपनी पूंजी भी गंवा चुके हैं और बांद्रा ईस्ट के स्लम में रह रहे हैं. अजहर की मां शमीमा ने बताया कि वो बिजनेस में काफी नुकसान उठा चुका था. शमीमा ने ये भी बताया कि उनका बेटा ड्रग्स और गलत कंपनी में भी पड़ गया है. उन्होंने कहा कि ‘वो कई बार बीमार पड़ जाता था. पिछले तीन सालों से मैं संघर्ष कर रही हूं. मैंने उसकी ट्रीटमेंट पर काफी खर्चा किया और फिर हमारे पास घर देखने के अलावा कोई चारा नहीं था.

अजहर की को-स्टार रुबीना कुरैशी भी अपने फ्लैट से अलग हो चुकी हैं. 20 साल की रुबीना मेकअप आर्टिस्ट हैं और वे नालासोपारा में अपनी मां के साथ रहती हैं. वे इसके अलावा फैशन डिजाइनिंग का कोर्स कर रही हैं. इस समय उस फ्लैट में रुबीना के पिता अपनी दूसरी पत्नी और बच्चों के साथ रहते हैं. रुबीना ने कहा कि  ‘स्टारडम खत्म हो चुका है. अब मुझे अपने परिवार को खिलाने के लिए कमाना पड़ता है

अपने मोबाइल पर REAL TIMES का APP डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
COVID-19 LIVE