City

लड़कियों के लिए संचालित हो रहा है मदरसा

शिक्षा मंत्री पहुंचे प्रमाण पत्र बांटने
वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्ष भी हुए शामिल
मदरसा संचालकों का किया गया सम्मान

रायपुर(realtimes) बलौदाबाजार के सिमगा में संचालित मदरसा जामिया मादरे अहले सुन्नत में आयोजित कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह और छत्तीसगढ़ राज्य वक़्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी शामिल हुए। इस मौके पर डिप्लोमा कोर्स करने वाली छात्राओं को सर्टिफिकेट प्रदान किया गया।

सिमगा में छात्राओं के लिए चलाया जा रहा मदरसा जामिया मादरे अहले सुन्नत  सन 2005 से संचालित है और यहां दीनी तालीम के साथ ही पहली से आठवीं तक आधुनिक शिक्षा भी दी जा रही है। इस वर्ष यहाँ 235 छात्राएं पढ़ रहीं हैं, और यहां बोर्ड कक्षाओं का केंद्र भी है। यहां उर्दू और अरबी भाषा का एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स भी चलाया जाता है, जिसमें सफल होने वाली छात्राओं को सर्टिफिकेट प्रदान करने के लिए छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें बतौर मुख्य अतिथि शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह शामिल हुए, वहीं छत्तीसगढ़ राज्य वक़्फ बोर्ड के अध्यक्ष सलाम रिजवी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। इस अवसर पर छात्राओं को डिप्लोमा सर्टिफिकेट और कोर्स की किताबें प्रदान करने के साथ ही उर्दू शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वालों का सम्मान किया गया।

इस अवसर पर मंत्री प्रेमसाय सिंह और सलाम रिजवी ने सरकार द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों की चर्चा की। उर्दू ज़बान के मिठास और उसके महत्व पर भी उन्होंने जोर दिया।

उल्लेखनीय है कि सिमगा जैसे छोटे से इलाके में मुस्लिम समाज की लड़कियों के लिए मदरसे का संचालन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि दूसरे राज्य की लड़कियां भी यहां पढ़ाई कर रही हैं। इस मदरसे के बेहतर संचालन के लिए संचालिका शाहना नूरी और मदरसा कमेटी के अध्यक्ष डॉ जमाल कुरैशी की सभी अतिथियों ने सराहना की। इस मौके पर छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के सी ई ओ एम. आर. खान के अलावा नगर पंचायत अध्यक्ष भागवत सोनकर, कॉंग्रेस नेता सुनील माहेश्वरी सहित विभिन्न समाज के लोग बड़ी संख्या में कार्यक्रम में उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button