SportsState

अंतरराष्ट्रीय वनडे से रायपुर के होटल, रेस्टोरेंट सहित कई सेक्टरों की होगी चांदी

रायपुर(realtimes) अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के जहां भी मैच होते हैं, उस शहर का नाम ताे विश्व स्तर पर चमक ही जाता है, साथ ही उस शहर की अर्थव्यवस्था भी उस एक दिन के मैच के दौरान आसमान पर चली जाती है। अब ऐसा ही अपने शहर रायपुर में भी होने वाला है क्योंकि यहां पर पहली बार भारत और न्यूजीलैंड का अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच 21 जनवरी को होगा। पहली बार होने वाले इस मैच से होटल, रेस्टोरेंट के साथ कई सेक्टरों की चांदी होगी। यही नहीं इस एक मैच में बिकने वाले 5 से 6 करोड़ के टिकटों से जीएसटी के रूप में सरकार को एक करोड़ के आस-पास मिलने की संभावना है। छत्तीसगढ़ राज्य क्रिकेट एसोसिएशन को भी टिकटों की कमाई से कुछ हिस्सा बीसीसीआई से मिलेगा।राज्य का क्रिकेट एसोसिएशन लंबे समय से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिए प्रयास कर रहा था। कोरोना की वजह से तीन साल बर्बाद हो गए, वरना पहले ही इसकी मेजबानी मिल जाती। बहरहाल अब जाकर मेजबानी मिली है। पहली बार यहां पर भारत और न्यूजीलैंड का मैच होगा। इस एक दिन के मैच से ही रायपुर का नाम दो सौ से ज्यादा देशों तक पहुंच जाएगा, क्योंकि मैच का सीधा प्रसारण होगा। इसी के साथ प्रदेश के क्रिकेट प्रेमियों को पहली बार अंतरराष्ट्रीय मैच प्रत्यक्ष रूप से देखने का मौका मिलेगा। इसी के साथ राजधानी रायपुर के कई सेक्टर इस एक दिन के मैच में लाल हो जाएंगे।

होटल, रेस्टोरेंट भी होंगे मालामाल
मैच देखने के लिए यहां पर 50 हजार से ज्यादा दर्शक आएंगे। ये दर्शक अपने राज्य के साथ बाहर के राज्यों के भी होंगे। एक अनुमान के मुताबिक मैच देखने के लिए बाहर से 15 से 20 हजार दर्शक आएंगे। इनको छोटे-बड़े होटलों में रूकना पड़ेगा। जहां बाहर के राज्यों के लोगों की इसकी जरूरत पड़ेगी, वहां अपने राज्य के दूर के शहरों से आने वालों को यहां पर एक से दो दिनों तक रूकना पड़ेगा। ऐसे में होटल सेक्टर वालों की भारी कमाई होगी। इसी के साथ जो दर्शक यहां रुकेंगे और जो नहीं भी रुकेंगे, उनको यहां पर खाने के लिए रेस्टोरेंट, ढाबों तक जाना पड़ेगा। इनकी भी भारी कमाई होगी। इसके अलावा परिवहन में आटो, टैक्सी, बसों के साथ ट्रेनों से आने पर रेलवे और हवाई मार्ग से आने पर भी इन सेक्टरों की कमाई होगी। जब हजारों की संख्या में लोग यहां आएंगे तो अलग-अलग सेक्टरों में खरीदारी भी होगी। इससे भी कमाई होगी।
बिकेंगे 5 से 6 करोड़ के टिकट
मैच में सात आठ सौ से टिकट की शुरुआत होगी। इसके बाद दस हजार रुपए तक की टिकट होगी। एक टिकट का औसत 12 सौ रुपए मानने पर 50 हजार टिकट बिकने पर छह करोड़ हो जाएंगे। अगर औसत एक हजार रहा तो यह पांच करोड़ के टिकट होंगे। टिकट पर 18 फीसदी जीएसटी लगती है, ऐसे में सरकार को 90 लाख से एक करोड़ आठ लाख तक की जीएसटी मिलने का अनुमान है।
राज्य संघ को मिलेगा हिस्सा
टिकट की कमाई से राज्य क्रिकेट संघ को भी कुछ हिस्सा मिलेगा। यह हिस्सा कितना होगा इसकी जानकारी अभी यहां के संघ के पदाधिकारियों को नहीं है। संघ के पूर्व वरिष्ठ पदाधिकारियों का कहना है, एक दो दिनों में जब बीसीसीआई से पूरी जानकारी आएगी कि इस मैच के लिए ट्रंप एंड कंडीशन क्यों होंगे, तभी इसका खुलासा होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button