State

16 लाख उपभोक्ता साढ़े 9 सौ करोड़ का बिजली बिल जमा कर रहे ऑनलाइन

रायपुर(realtimes) डिजिटल जमाने में अब धीरे-धीरे सबका भुगतान ऑनलाइन होते जा रहा है। लाेगाें काे जब घर बैठे बिल जमा करने की सुविधा मिल रही है तो फिर क्यों कर कोई समय खराब करने के लिए लंबी लाइन लगाकर भुगतान करने जाए। यही वजह है कि अब  प्रदेश के 60 लाख से ज्यादा बिजली उपभोक्ताओं को छत्तीसगढ़ राज्य पॉवर कंपनी 12 सौ करोड़ के आस-पास बिजली बिल देती है। इसमें से अब हर माह साढ़े नौ सौ करोड़ का भुगतान ऑनलाइन होने लगा है। इसके पहले ऑनलाइन भुगतान काफी कम होता था, लेकिन कोरोना काल के बाद ऑनलाइन भुगतान की तरफ काफी तेजी से उपभोक्ताओं का रुझान बढ़ा है। गांवों में भी उपभोक्ता ऑनलाइन भुगतान कर रहे हैं, लेकिन वहां इनकी संख्या कम है, क्योंकि उनको एक तो इसका ज्ञान नहीं है, दूसरे वहां कम पढ़े लिखे होने के कारण ये ऑनलाइन सुविधा का उपयोग नहीं कर पाते हैं। लेकिन शहरी क्षेत्रों में ज्यादातर उपभोक्ता अब ऑनलाइन बिल जमा करना ही पसंद करते हैं।
बिजली बिलों के लिए अब लाइन लगातर बिल जमा करना पुरानी बात हो गई है। समय के साथ पॉवर कंपनी ने बिल जमा करने के लिए नई-नई सुविधा देना प्रारंभ किया। पहले एटीपी मशीनें लगाई गईं। आज प्रदेश में पांच सौ से ज्यादा एटीपी मशीनों में बिलों का भुगतान होता है। इसी के साथ ऑनलाइन भुगतान के लिए कई तरह की सुविधा मिल रही हैं।
ऑनलाइन बिल जमा करने वाले 16 लाख
प्रदेश में बिजली के 61 लाख 8 हजार 896 उपभोक्ता हैं। इनमें से इस समय 16 लाख 9 हजार 375 उपभोक्ता ऑनलाइन भुगतान कर रहे हैं। हर माह ये आंकड़े कम ज्यादा होते रहते हैं। लेकिन आंकड़ों में ज्यादा अंतर नहीं आता है। ये उपभोक्ता हर माह नौ से साढ़े नौ सौ करोड़ का भुगतान ऑनलाइन कर रहे हैं। इन उपभोक्ताओं में उद्योग, व्यापारिक संस्थान और घरेलू उपभोक्ता शामिल हैं। करीब दो से ढाई सौ करोड़ का भुगतान ही ऑफलाइन होता है
गांवों में ऑफलाइन भुगतान ज्यादा
ऑनलाइन बिल जमा करने वाले उपभोक्ताओं में ज्यादातर उपभोक्ता शहरों के हैं। गांवों के उपभोक्ता भी ऑनलाइन भुगतान कर रहे हैं, लेकिन जिनका बिल कम आता है और जिनके घरों के आस-पास ही ऑफलाइन बिल भुगतान की सुविधा है, वहीं ऑफलाइन भुगतान कर रहे हैं। लेकिन जिनके घरों से बिल जमा करने के सेंटर दूर हैं, वो सब ऑनलाइन भुगतान कर रहे हैं। अब तो प्रदेश के ज्यादातर गांवों तक भी इंटरनेट की सुविधा हो गई है, ऐसे में कोई परेशानी नहीं हो रही है।
20 लाख से ज्यादा बीपीएल
प्रदेश में 20 लाख से ज्यादा बीपीएल के उपभोक्ता हैं। इनकाे एक तो 30 यूनिट बिजली मुफ्त मिलती है, इसके बाद की बिजली का ही पैसा लगता है। आमतौर पर इन उपभोक्ताओं की खपत सौ यूनिट के अंदर ही रहती है। इतना सब होने के बाद भी बीपीएल वर्ग के लाखों उपभोक्ता बरसों से बिलों का भुगतान नहीं कर रहे हैं। इनकी बिजली भी कट नहीं होती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button