State

नवरात्रि बाद साव-चंदेल की जोड़ी फिर जिलों में कार्यकर्ताओं में जोश भरने निकलेगी

रायपुर(realtimes) नए प्रदेशाध्यक्ष अरूण साव और नेता प्रतिपक्ष नारायण सिंह चंदेल की जाेड़ी एक बार से नवरात्रि के बाद जिलाें के दाैरे पर निकलेगी। अब यह जोड़ी नवरात्रि के बाद बिलासपुर या दुर्ग संभाग के जिलों का दौरा करेगी। इस जाेड़ी ने सबसे पहले बस्तर के जिलों का दौरा किया। वास्तव में प्रदेश भाजपा संगठन में क्या गजब का बदलाव हुआ है। न सिर्फ बदलाव हुआ है, बल्कि काम करने का तरीका भी अब बदल गया है। 15 साल तक सत्ता में रहने के बाद भी कभी भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष ने एक साथ जिलों का दौरा नहीं किया, लेकिन अब ऐसा हो रहा है। इसमें एक बड़ी बात यह रही कि इस जोड़ी ने बस्तर के भी जिलों में जाकर बैठकें लीं। इसके पहले ऐसा नहीं होता था।

नए प्रदेशाध्यक्ष अरूण साव और नेता प्रतिपक्ष नारायण सिंह चंदेल की जोड़ी ने पूरे प्रदेश के जिलों में दौरा करने की रणनीति बनाई है। पहले चरण में बस्तर के जिलों का दौरा किया गया। इसके पीछे का कारण यह है कि बस्तर और सरगुजा पर भाजपा का मिशन 2023 को लेकर फोकस है। पहली बार भाजपा नेताओं ने जिलों में जाकर बैठक लेने का काम किया है। इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण कार्यकर्ताओं में जोश भरना और जमीनी हकीकत को जानना है। इसके पहले जब भी भाजपा के पदाधिकारी बस्तर के दौरे पर जाते थे तो जगदलपुर, दंतेवाड़ा में ही जिलों के पदाधिकारियों को बुलाकर बैठक कर लेते थे, लेकिन इस बार सभी जिलों में जाकर बैठकें की गई।

कार्यकर्ताओं में उत्साह

जिलों में बैठकें करने के पीछे का कारण जानने का जब नेता प्रतिपक्ष नारायण सिंह चंदेल से प्रयास किया गया तो उन्होंने बताया, इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण कार्यकर्ताओं में जोश भरना और नई ऊर्जा का संचार करना है। जब सुकमा, बीजापुर और नारायणपुर में जाकर बैठकें लीं, तो वहां के कार्यकर्ता खुश हुए कि उनके जिले में बैठक लेने अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष आए हैं। ऐसे में पदाधिकारी सौ से डेढ़ सौ किलोमीटर की दूरी तय करके बैठक में शामिल होने आए। उनसे बहुत सी जानकारी भी मिली।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button